Dalit Girl Molestation in Azamgarh
Dalit Girl Molestation in Azamgarh|Pic source: Twitter
टॉप न्यूज़

आजमगढ़ में बच्ची से छेड़खानी का विरोध करने पर दलितों को पीटा

बच्ची से छेड़खानी का विरोध करने पर समुदाय विशेष के लोगों ने दलितों को बुरी तरह पीटा

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

जौनपुर के बाद यह दूसरी घटना है जिसका मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेकर कड़ी कार्यवाही करने के आदेश जारी किए हैं। मामला दलित वर्ग की बालिकाओं के साथ हुई छेड़छाड़ से जुड़ा हुआ है। परवेज नूर आलम, सदरे आलम समेत अन्य सभी आरोपियों के विरुद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्यवाही की गई है।

छेड़खानी का विरोध करना पड़ा महंगा:

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में दलित समुदाय की बच्चियों के साथ रोज-रोज होती छेड़खानी का विरोध करने पर दूसरे समुदाय के दबंगो ने जमकर मारपीट की। इस मामले में पीड़ित वर्ग को गहरी चोटें आयी है, पीड़ित दलित समुदाय के अनुसार समुदाय विशेष के आवारा लड़कों द्वारा आये दिन उनकी बच्चियों को स्कूल जाते वक्त, पानी लाते वक्त और अन्य कहीं भी जाते वक्त छेड़ा जाता था। विरोध करने पर बच्चियों को परिवार समेत जान से मारने की बात कही जाती थी। लेकिन एक दिन हद तब हो गयी जब बच्चियों द्वारा विरोध करने पर बदसुलूकी की गई और उनके साथ छेड़खानी के बेहद गिरे स्तर की बदतमीजी की गई। गौरतलब हो कि उस वक्त बच्ची ट्यूबवेल से पानी लेने जा रही थी। पीड़ित परिवार ने इस मामले पर आवारागर्दी करने वालों लड़को के परिजनों से शिकायत की तो दूसरे समुदाय के लोगों ने सामूहिक तौर पर दलितों की पिटाई की गई। भुक्तभोगियों ने बताया कि पिटाई में बच्चे बूढ़े और महिलाओं तक को नही छोड़ा गया

थाना प्रभारी सस्पेंड:

मामले की भनक जैसे ही प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ को हुई तो मुख्यमंत्री कार्यालय से महाराज गंज थाना प्रभारी को तत्काल प्रभाव सस्पेंड किया गया और निर्देश जारी हुए की अगर किसी भी स्थान पर साम्प्रदायिक घटना होती है और प्रशासन की चूक पाई जाती है तो उसके लिए इंस्पेक्टर और सीओ की जिम्मेदारी होगी और पुलिस अधीक्षक इसके लिए जवाबदेह होगें।

पुलिस ने डंडा चलाया:

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद जिले में हड़कंप मच गया और आनन-फानन में मामले के आरोपियों परवेज, फैजान, नूर आलम, सदरे आलम समेत 12 लोगों को गिरिफ्तार किया गया तथा बाकी के फरार 7 लोगों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया गया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने NSA लगाने के आदेश जारी कर दिए है। सभी फरार आरोपियों की जोर शोर से तलाश जारी है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com