टॉप न्यूज़

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कहा हालात बहुत खतरनाक, डॉक्टरों के लिए जारी किया रेड अलर्ट

आईएमए की माने तो कोरोना अब कम्युनिटी स्प्रेड के स्तर तक पहुँच रहा है, बेहद सावधानी की जरूरत है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

आईएमए ने सरकार और जनता को आगाह किया है कि कोविड-19 अब उस स्तर तक पहुँच चुका है जहां से इसके संक्रमण की जनाकारी को ट्रैक करना मुश्किल हो रहा हैं, खासकर वह लोग जो कहीं यात्रा नहीँ कर रहे और कहीं बाहर भी नहीँ निकल रहे उनमे संक्रमण पाया जा रहा है। अगर ताजा आंकड़ों को देखे तो भारत मे अब 30000 संक्रमित का आंकड़ा प्रतिदिन के हिसाब से बढ़ रहा है जो किसी भी स्थिति से सही संकेत नही है। साथ ही आईएमए ने इस बात को लेकर चिंता जताई है कि अब यह संक्रमण ग्रामीण क्षेत्रो तक पहुँच रहा है जिसकी वजह से इसके विस्फोट होने की स्थिति बन चुकी है। चूंकि शहरों में तो लोग संक्रमण को लेकर जागरूक नजर आते है लेकिन ग्रामीण स्तर पर इसको ज्यादा तवज्जो नहीँ दी जा रही और लोग जानबूझकर संक्रमण को छिपा रहे हैं।

ताजा मामला उत्तर प्रदेश के हमीरपुर का है:

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में पाए गए एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति की हरकतों से स्थानीय प्रशासन के हाँथ पैर फुला दिए है दरअसल व्यक्ति अपनी माता जी को इलाज के लिए कानपुर ले जाता रहा है जहां पर उसे बुखार और जुखाम जैसी स्थिति मालूम हुई इसलिए उक्त व्यक्ति ने निजी लैब में जाकर इसका टेस्ट कराया और घर चला आया। उसके बाद भी व्यक्ति ने लोगों से मिलना जुलना जारी रखा। जब रिजल्ट आया तब भी व्यक्ति शांत नहीँ हुआ और लगातार सार्वजनिक स्थलों पर जाता रहा जबतक कि पुलिस व्यक्ति के घर तक नहीँ पहुंची। अब इस मामले में करीब एक सैकड़ा लोग संदेह की स्थिति में है।

डॉक्टरों पर बड़ी आफत:

हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन कोविड-19 की गाइडलाइंस के बारे में आये दिन बदलाव कर रहा है शायद इसका मुख्य कारण कोरोना के अनछुए पहलू हैं। आईएमए ने आईसीएमआर के द्वारा उपलब्ध जानकारी के हिसाब से भारत मे डॉक्टरों को लेकर बिगड़ते हालातों को लेकर चिंता व्यक्त की है। आईएमए ने बताया कि मरीज़ों की देखरेख में डॉक्टर जिस तरह संक्रमित हो रहे है वह चिंता का विषय है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com