बाँदा में कोरोना से बिगड़ने लगे हालात, स्वास्थ्यकर्मियों में फैलने लगा कोरोना

कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर प्रचार्य मुकेश यादव पर पहले भी आरोप लगते रहे हैं। लोगों की शिकायत है कि स्वाथ्यकर्मियों की सुरक्षा को ताक पर रखकर इलाज करने का आदेश दिया जा रहा है।
बाँदा में कोरोना से बिगड़ने लगे हालात, स्वास्थ्यकर्मियों में फैलने लगा कोरोना
Banda Medical College NewsGoogle Image

बाँदा में स्थिति हुई भयावह:

पिछले दिनों बाँदा में अचानक से 10 कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद जिले में हालात बद से बदतर हो चुके थे वहीँ ताजा जानकारी के अनुसार बाँदा में चार और कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। कुलमिलाकर अब अगर संख्यात्मक रूप से देखा जाए तो बाँदा में अब संक्रमितों की संख्या करीब डेढ़ दर्जन को भी पार कर चुकी है। दो नए मरीज बाँदा के ग्रामीण क्षेत्रों से जुड़े हुए है जो हाल में ही कोरोना से अत्यधिक प्रभावित क्षेत्र महाराष्ट्र और गुजरात से लौट कर आये थे इनमें से एक व्यक्ति पिपरहरी गांव और दूसरा सबादा गांव से है वहीँ दो अन्य संक्रमित व्यक्ति अस्पताल में काम करने वाले लोग है।

वार्ड ब्वाय और स्वीपर संक्रमित:

ताजा जानकारी के अनुसार दो अन्य अस्पताल के संक्रमित व्यक्तियों में से एक स्टाफ ब्वाय / वार्ड ब्वाय और दूसरा स्वीपर है जिनका मरीजों से लगातार मिलना जुलना होता है। वहीँ इससे पहले भी वार्ड ब्वाय और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा पीपीई किट और एन 95 मास्क न मिलने का आरोप अस्पताल प्रसाशन पर लगाया जा चुका है और इस मामले में मेडिकल कालेज के प्राचार्य मुकेश यादव द्वारा असंवेदनशीलता दिखाई गई थी। एक महिला स्वास्थ्यकर्मी को मर जाने की बात कहने वाले प्राचार्य की करतूत पर लोगों को आज भी शक पैदा हो रहा है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com