उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
अपने 63वें जन्मदिन पर बोली मायावती: हमने हमेशा गरीबों और दलितों के लिए काम किया है
अपने 63वें जन्मदिन पर बोली मायावती: हमने हमेशा गरीबों और दलितों के लिए काम किया है|ANI-Twitter
टॉप न्यूज़

अपने 63वें जन्मदिन पर बोली मायावती: हमने हमेशा गरीबों और दलितों के लिए काम किया है, UP में जीत ही मेरे जन्मदिन का तोहफा होगा 

BSP सुप्रीमो मायावती आज अपना 63वां जन्मदिवस लखनऊ के पार्टी कार्यालय में मना रही हैं, जहां वह 63 किलो का केक काटेगी और ब्लू बुक का विमोचन करेगी। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती आज अपना 63वां जन्मदिन मना रही है। इस साल उनका जन्मदिन बेहद खास होने वाला है। एक तरफ जहां मायावती ने समाजवादी पार्टी से 23 साल पुरानी दुश्मनी भुलाकर गठबंधन के लिए हाथ बढ़ा कर बीजेपी और अन्य दलों की नींद उड़ा दी है तो दूसरी तरफ मायावती का प्रधानमंत्री बनने का सपना भी हिलोरें मारने लगा है। इस सपने को साकार करने में अखिलेश यादव ने मायावती का समर्थन भी किया है। दरअसल उत्तर प्रदेश ही तय करता है कि देश में किसकी सरकार बनेगी और कौन प्रधानमंत्री बनेगा। अगर मायावती और अखिलेश के गठबंधन का जादू चल जाता है तो शायद मायावती प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठ जाये।

मायावती ने मीडिया से कहा कि देश की आजादी के बाद या तो बीजेपी सत्ता में रही है या कांग्रेस। दोनों की सरकारों में जमकर भ्रष्टाचार हुआ। किसान, गरीब, दलित व अन्य पिछड़े वर्ग का सही से विकास नहीं हुआ, जिससे दुखी होकर ही हमें इनके हितों के लिए पार्टी बनानी पड़ी थी। आज देश में किसान, दलित और पिछड़ा वर्ग के लोग सबसे ज्यादा दुखी है। हमारी पार्टी ने हमेशा गरीबों और दलितों के लिए काम किया है। मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए मायावती ने कहा कि मोदी सरकार को 100% कृषि ऋण माफी देनी चाहिए अन्यथा किसान आत्महत्याएँ जारी रहेंगी। एक मजबूत कृषि ऋण माफी नीति बनाई जानी चाहिए।

मायावती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि समय आ गया है भारतीय जनता पार्टी के अहंकार को तोड़ने का, अब बीजेपी को समझ लेना चाहिए कि झूठे वादे और जुमलेबाजी से किसान व दलित विरोधी सरकार की दाल ज्यादा दिन तक गलने वाली नहीं है। यही वजह है कि कांग्रेस की तीन राज्यों में बनी सरकार पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं। चाहे बात किसान के कर्ज माफी की हो या फिर दलितों को फायदा देने की सरकार से सवाल पूछे जाने लगे हैं।

मायावती ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा 70 सालों तक देश में राज करने वालों ने किसानों का थोड़ा सा कर्जा माफ़ किया है, क्या इससे किसानों को राहत मिलेगी ? पूरे देश के किसानों का कर्जा माफ किया जाना चाहिए और हमारी सरकार ऐसा करने में सक्षम है। हमारी गठबंधन की सरकार देश में किसान, दलित और पिछड़ों की समस्या का संतोषजनक समाधान निकालने की स्थिति में हैं।

आपको बता दें कि, मायावती हर साल अपने जन्मदिन को 'जन कल्याणकारी दिवस' के तौर पर मानती है। इस बार भी सूबे भर के सभी जिलों में बसपा कार्यकर्ता और पदाधिकारी गरीबों को कपड़े, भोजन और अन्य जरूरी सामान बांटकर जन्मदिवस मनाएंगे। मायावती के भाषण को सूबे के सभी जिला मुख्यालय में प्रसारित किया जाएगा। इसके बाद वो लखनऊ से दिल्ली के लिए जाएंगी, जहां सहयोगी दलों के नेता उनसे मुलाकात करेंगे और जन्मदिन की बधाई देंगे।