कंगना के ऑफिस पर गरजा बीएमसी का बुलडोजर, कंगना ने कहा बाबर और उनके गुंडे मेरे पीछे पड़े हैं।

बीएमसी ने आज (बुधवार) को कंगना रनौत के बांद्रा स्थित ऑफिस को कथित रूप से कई अनधिकृत संशोधनों के कारण तोड़ना शुरू कर दिया।
कंगना के ऑफिस पर गरजा बीएमसी का बुलडोजर, कंगना ने कहा बाबर और उनके गुंडे मेरे पीछे पड़े हैं।
BMC demolished kangna ranaut office in mumbaiSocial Media

इस कार्यवाही को कंगना के द्वारा महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ आने की वजह बताया जा रहा है और अगर ताजा हालतों को देखे तो सारे लक्षण यही बता रहे है कि यह कार्यवाही बीएमसी की तरफ से रेगुलर बिल्कुल नहीं है बल्कि इसे जानबूझकर प्लान किया गया है।

कंगना ने कहा ये दूसरे बाबर:

एक ओर जहां कंगना रनौत पिछले कुछ दिनों से महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल हुए बैठी हुई थी वहीँ महाराष्ट्र सरकार ने बीएमसी की तरफ से एक दूसरा मोर्चा कंगना के खिलाफ खोल दिया है। जिसमे कंगना को नुकसान होना तय है। दरअसल आज ही कंगना रनौत को शिवसेना के नेता संजय राउत की धमकी के बाबजूद मुंबई पहुंचना है और उससे पहले ही कंगना के ऑफिस के आस पास बीएमसी के बुलडोजर निर्माण कार्य को तोड़ने के उपकरणों के साथ कर्मचारी नजर आए।

कंगना ने कहा मैं गलत नहीं, मुम्बई पीओके ही है:

बीएमसी की कार्यवाही के बाद कंगना ने अपने दिए गए बयान को दोहराते हुए कहा कि अब मुझे कोई संदेह नही है कि मुंबई में पाक अधिकृत कश्मीर जैसे हालात है। जहाँ पर मुखिया के खिलाफ आवाज उठाने पर आशियाने उजाड़ दिए जाते है।

क्या टाइमिंग सही है?

अगर टाइमिंग को देखा जाए तो एक अंधा व्यक्ति भी यह बताने में सक्षम है कि यह सारा मामला राजनैतिक विरोध और व्यक्तिगत कुंठा से जुड़ा हुआ है। दरअसल कंगना रनौत सुशान्त सिंह मामले में अपनी आवाज को मुखर करके सरकार के खिलाफ उंगली उठाने लगी थी और महाराष्ट्र सरकार कंगना को लेकर असहज हो गयी। इतना ही नही कंगना के बयानों को लेकर सरकार के नुमाइंदों ने कंगना को जवाब देना शुरू कर दिया। खुद मुख्यमंत्री को इस मामले में सदन में जाकर अपना बयान देना पड़ा, हालकि इस मामले में कंट्रोवर्सी लगातार बढ़ रही है कंगना ने अपने ऑफिस को तोड़ने पर राम मंदिर तोड़ने जैसा करार दिया है। कंगना ने यह भी कहा कि ये बाबर और उसके गुंडों का कमाल है लेकिन फिक्र की कोई बात नहीं ये ऑफिस दोबारा उठ खड़ा होगा।

बीएमसी का यह कदम सोशल मीडिया पर कंगना और महाराष्ट्र के कुछ राजनेताओं के बीच छिड़ी जुबानी जंग के बाद सामने आया है। बीएमसी के एग्जिक्यूटिव इंजीनियर ने कहा कि वह इस बात से संतुष्ट थे कि (अवैध) निर्माण किए जा रहे थे और कंगना बीएमसी कानूनों के अनुसार इसके लिए अनुमति /अनुमोदन / स्वीकृति प्रदान करने में विफल रही थी।

बीएमसी के नोटिस में यह भी चेतावनी दी गई कि अभिनेत्री को जुर्माना के अलावा, न्यूनतम एक महीने की कैद और एक साल की जेल की सजा तक हो सकती है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com