उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
MLA Pappu Bhartaul
MLA Pappu Bhartaul|Social Media
टॉप न्यूज़

बेटी की नजरों में जल्लाद बाप बना दूसरी लावारिस बच्ची का मसीहा

बरेली से बीजेपी विधायक पप्पू भरतौल एक बार फिर सुर्ख़ियों में।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

गलत और सही के पैमाने हमेशा लोगो की नजरों में रहते है, कभी कोई व्यक्ति दूसरों की नजरों में गलत हो जाता है तो कभी सही, इसका ताजा उदाहरण बरेली विधायक पप्पू भरतौल है, जिन्हें एक घटना ने मानवता का जीता जागता उदाहरण बना कर रख दिया है.

कुछ दिनों पहले की हाई प्रोफाइल घटना का चित्र अपने दिमाग मे उकेरिये, बेटी साक्षी अपने पिता को कंस, रावण, और दुर्योधन बनाकर समाज के सामने पेश करने से नहीं हिचक रही थी, साक्षी और उसके प्रेमी ने जिस तरह का मीडिया ट्रायल कराकर बाप की इज्जत सरे बाजार नीलाम की, अगर ऐसी स्थिति किसी आम इंसान की हो तो उसे बेटी शब्द से भी नफरत हो सकती है, लेकिन ह्रदय एक ऐसी मांसपेशी है जिसमें विज्ञान भले ही केवल धड़कन महसूस करे, लेकिन उस मजबूत मांसपेशी में एक भावनात्मक लगाव की डोर बंधी होती है जिसको बरेली विधायक पप्पू भरतौल ने बखूबी साबित किया है।

मटके में भरकर फेंकी गई, विधायक ने संभाला :

बच्चे का पैदा होना हमारे समाज मे सबसे बड़ी खुशी का पल माना जाता है लेकिन कभी-कभी इस तरह की घटनाएं इस समाज को नर्क की बराबरी में ला खड़ा करती है।

एक नवजात बच्ची, जिसे अच्छे-बुरे, अपने पराए किसी चीज का भान नहीं, उसे पैदा होते ही एक छोटे से मटके में भरकर मरने के लिए जमीन में तीन फुट नीचे गाड़ दिया गया, संयोग से कोई व्यक्ति अपने मरे हुए बच्चे के लिए कब्र खोदने गया हुआ था, उसकी कुदाल में मटके का एक सिरा टकराने की आवाज आई खोदने वाले व्यक्ति ने मटके को निकाल कर देखा और पाया कि बच्ची की सांस चल रही है, ऐसे में उसने अस्पताल जाना बेहतर समझा, इस घटना के बाद पुलिस ने भी अपनी जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

घटना की जानकारी मिलते ही बेटी द्वारा अपमानित, समाज और मीडिया के द्वारा तिरस्कृत बाप बरेली विधायक पप्पू भरतौल ने अस्पताल पहुँच कर बच्ची के हालात का जायजा लिया और उपस्थित सभी लोगों के सामने उस बच्ची को अपनाने के लिए प्रतिबद्धता दर्शायी बकौल पप्पू भरतौल "हम बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ की भावना में यकीन रखते है, मैं विश्वास दिलाता हूँ कि इस बच्ची को अपनी बेटी से बढ़कर इस का पालन-पोषण करूंगा और इसकी शिक्षा में कोई कमी नही रखूंगा, चूँकि यह बच्ची ठीक वैसे ही प्राप्त हुई है जैसे माता सीता जमीन के अंदर एक घट में मिली थी, अतः इसे "सीता " नाम से ही पुकारा जाए"

इस घटना के बाद से पूरे क्षेत्र में पप्पू भरतौल के नाम के चर्चे फैल रहे है, और बेटी साक्षी और उसके प्रेमी अजितेश की कहानी एक बार नए सिरे से चर्चे में है

घटना के बाद लोगो द्वारा सोशल मीडिया में विधायक पप्पू भरतौल की वाहवाही की जा रही है