हाथरस मामला: भाजपा नेताओं ने पीड़ित के घर की घेराबंदी को लेकर योगी सरकार पर उठाये सवाल

वरिष्ठ भाजपा नेता उमा भारती ने हाथरस मामले में यूपी सरकार को घेरा उन्होंने पूछा कि दलित बिटिया के अंतिम संस्कार में इतनी तेज़ी क्यों दिखाई गयी।
हाथरस मामला: भाजपा नेताओं ने पीड़ित के घर की घेराबंदी को लेकर योगी सरकार पर उठाये सवाल
uma Bharti on Hathras caseGoogle Imahge

वरिष्ठ भाजपा नेता सुश्री उमा भारती ने हाथरस मामले में पीड़ित के घर/ गांव की घेराबंदी को लेकर सवाल उठाए है। ज्ञात हो बीते दिन से ही पीड़ित के गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया है।

यही नहीं जॉइंट मजिस्ट्रेट समेत पुलिस के अधिकारी आम लोगों और मीडिया से बदतमीजी करने से बाज नही आ रहे है। उमा भारती ने कहा है कि लोगों के न मिलने देने से लोगों के मन मस्तिष्क में शंकाएं उत्पन्न हो रही है कृपया इसे दूर किया जाए"

उमा भारती ने कहा भाजपा की छवि खराब हो रही है:

योगी सरकार के बेहद चर्चित मामले हाथरस कांड के बाद भाजपा में अंदरूनी विचार विमर्श होने शुरू हो गए है और इसकी शुरुआत उमा भारती समेत अन्य नेताओं जैसे गोरखपुर से सांसद रविकिशन ने की है।

उमा भारती इस वक्त कोरोना संक्रमित है और पिछले कुछ दिनों से एम्स ऋषिकेश के कोरोना वार्ड में भर्ती है। उमा भारती ने कहा है कि वह कोरोना के कारण भारी तकलीफ से गुजर रही है लेकिन हाथरस की बेटी के साथ जो हुआ वो बेहद तकलीफ देने वाला है। अगर वह स्वस्थ्य होती तो निजी तौर पर पीड़ित परिवार से मिलने जाती।

जल्दबाजी में अंतिम संस्कार और मिलने पर पाबंदी क्यों ?

वरिष्ठ भाजपा नेता उमा भारती ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से नसीहत के अंदाज में शिकायत की। उमा भारती ने मुख्यमंत्री से पूंछा की दलित बिटिया के अंतिम संस्कार में इतनी तेजी कयों दिखाई गई? साथ ही गांव को पुलिस बल के द्वारा किले की तरह कयों घेर रखा है।

उमा भारती ने आगे लिखा कि जैसी मेरी जानकारी है कि किसी भी जांच के वक्त ऐसा कोई प्रावधान नही है जिससे पीड़ित परिवार से किसी को मिलने से रोका जाए। आपकी इस क्रिया से एसआईटी (SIT) की जांच पर ही पूर्व प्रेरित होने के आरोप लगेंगे और यह जांच व्यर्थ हो जाएगी।

यहां आपको बताते चले कि भाजपा नेता उमा भारती पूर्व में देश के बड़े राज्य मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकी है। इस लिहाज से उनका राजनीतिक जीवन योगी आदित्यनाथ से कहीं ज्यादा बड़ा है।

आपकी छवि बेहद उज्ज्वल:

उमा भारती ने योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए कहा कि आपकी छवि बेहद ईमानदार और कुशल प्रशासक की है। मेरा निजी अनुरोध है कि पीड़ित परिवार को आम लोगों और मीडिया कर्मियों से मिलने दिया जाए ताकि इस मामले में नई शंकाएं जन्म न ले।

उमा भारती ने आगे यह भी लिखा कि मेरी सलाह को अमान्य न करें मैं एक बड़ी बहन और वरिष्ठ भाजपा नेता की तरह अनुरोध कर रही हूँ। कृपया इस पर अमल अवश्य करें।

सनद रहे कि इन दिनों योगी सरकार की कार्यशैली को लेकर तमाम सवाल उठ रहे है। जिसका जवाब न तो सरकार के पास है ना ही प्रशासन के पास, जाहिर सी बात है इसका सीधा असर भाजपा की राजनीति पर पड़ेगा।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com