पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का 84 वर्ष की आयु में निधन।

भारत रत्न प्रणब मुखर्जी ने साल 2012 से साल 2017 तक भारत के 13वें राष्ट्रपति के रूप में देश की सेवा की। प्रणव दा ने इससे पूर्व देश के वित्त, रक्षा और विदेश मंत्री जैसे पदों की ज़िम्मेदारी भी संभाली थी
पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का 84 वर्ष की आयु में निधन।
former president of india pranab mukherjee passed awayGoogle Image

पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का आज दिल्ली के आर्मी रिसर्च और रेफरल अस्पताल में निधन हो गया। इस बात की जानकारी उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर दी। प्रणब लंबे समय से बीमारी से जूझ रहे थे। प्रणब 84 साल के थे।

पीएम मोदी ने उनके निधन पर शोक जताते हुए ट्वीट किया है:

पीएम ने लिखा है, "भारत रत्न श्री प्रणब मुखर्जी के निधन पर भारत शोकाकुल है। हमारे राष्ट्र के विकास के पथ पर उन्होंने एक अमिट छाप छोड़ी है। एक विद्वान, ऊंचे कद के राजनेता जिन्हें सभी समुदायों और राजनीतिक वर्गों में सराहा गया।

देश के वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी ट्वीट करके पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर दुख जताया:

प्रधानमंत्री मोदी ने साल 2014 का ज़िक्र करते हुए कहा कि उन्हें दिल्ली में पहले दिन से पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का मार्गदर्शन, समर्थन और आशीर्वाद मिलता रहा, और वो उनके साथ हुई बातचीत को हमेशा याद रखेंगे।

देश के गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया है कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के जीवन को मातृभूमि के लिए योगदान और सेवा के लिए याद किया जाएगा। उनके निधन ने भारतीय राजनीति में एक बहुत बड़ा शून्य पैदा किया है और उनकी संवेदनाएं परिवार के साथ हैं।

राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए प्रणव दा की मौत पर दुख जताया है।

राहुल ने ट्वीट किया, बहुत दुख के साथ, राष्ट्र को हमारे पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के निधन की ख़बर मिली है। मैं पूरे देश के साथ उन्हें श्रद्धांजलि देता हूं. शोकाकुल परिवार और दोस्तों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।

ज्ञात हो कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी पीछे कुछ समय से अस्पताल में भर्ती थे।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com