Community Health Center
Barua Sagar Jhansi
Community Health Center Barua Sagar Jhansi |Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

अस्पताल की छत पर चढ़कर कोरोना संक्रमित मरीजों ने मचाया उत्पात, कहा बुनियादी सुविधाओं का आभाव है

कोरोना संक्रमित मरीज़ों ने अस्पताल की छत पर चढ़कर राहगीरों से अपनी तकलीफ बताई, सरकार और प्रशासन पर बुनियादी सुविधाएं न देने के आरोप लगाए, मरीज़ों ने कहा कि खाना और पानी भी नसीब में नहीं है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

मामला उत्तर प्रदेश के बेहद कोरोना प्रभावित जिले झांसी से जुड़ा हुआ है जहां के बरुआ सागर कस्बे में उस वक्त बेहद असहज करने वाली स्थिति उत्पन्न हो गयी जब कोरोना के इलाज के लिए नियत अस्पताल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरुआ सागर जिले झांसी की छत पर चढ़कर कोरोना संक्रमितों ने अपना दुखड़ा सुनाया और राह चलते लोगों से दरख्वास्त दी कि उन्हें कम से कम बुनियादी सुविधाओं से तो वंचित न किया जाए। अस्पताल की छत पर चढ़े हुए कोरोना मरीज़ों ने राहगीरों से अपील की वह सोई हुई सरकार और सरकारी तंत्र को जगाने का काम करें यहां कोरोना के इलाज के नाम पर अस्पताल में लिटाया गया है जबकि यहाँ समय से चाय पानी और भोजन भी मुनासिब नहीं है।

एक ओर जहां झांसी जिलाधिकारी लोगों से सामने आने की अपील कर रहे है और उनके अस्पतालों के हाल इस तरह खराब है।

असुविधाओं का है अंबार:

छत पर चढ़े हुए लोगों ने अस्पताल प्रशासन और सरकारी तंत्र पर आरोप लगाए की हम यहाँ मरने के लिए रखे गए है, यहाँ हालात बद से बदतर है। हमे यहां भले ही इलाज के नाम पर लिटा दिया गया है लेकिन इलाज तो दूर बल्कि यहाँ खाना पानी की भी व्यवस्था उपलब्ध नहीं है। छत पर चढ़े हुए व्यक्ति ने बताया कि यहां की हालत इस कदर खराब है कि हमे शौचालय में पानी की बोतल लेकर जाना पड़ रहा है। यहाँ के शौचालयों के नलों में पानी नहीं आता, यहाँ के ये शौचालय गंदगी से भरे पड़े है लेकिन कोई साफ सफाई करने नही आ रहा है।

चाय और नाश्ता भले ही खर्चे में जोड़कर सरकार को बिल थमाया जा रहा हो लेकिन न तो उन्हें चाय मिल पा रही है और न ही नाश्ता बल्कि भोजन भी दोपहर के 2 बजे के बाद दिया गया है। छत पर चढ़े हुए लोगों ने भाजपा सरकार पर मरीज़ों की हालत बिगाड़ने के आरोप लगाए।

अस्पताल में बुनियादी सुविधाएँ न होने के कारण कोरोना संक्रमित मरीज अस्पताल की छत पर आ गए और राहगीरों को अस्पताल की हालत...

Posted by Uday Bulletin on Monday, July 13, 2020

क्या कहते है जानकार:

कोरोना संक्रमण के बारे में जानकारी रखने वाले लोगों के अनुसार जिस प्रकार से संक्रमित मरीज़ों के द्वारा शिकायत की जा रही है उससे हालत बेहद खराब हो सकते है चूँकि इस वक्त तक कोरोना की कोई कारगर दवा उपलब्ध नहीं है इसलिए संतुलित भोजन और साफ सफाई की मदद से ही कोरोना को हराया जा रहा है। अगर ये मामला सत्य है तो जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए नहीं तो मरीज़ों की हालत खराब हो सकती है।

मामले का वीडियो लोगों के द्वारा मोबाइल पर बनाकर सोशल मीडिया में प्रसारित किया जा रहा है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com