उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
End Of Terrorist Abu Bakr al baghdadi
End Of Terrorist Abu Bakr al baghdadi|Google
टॉप न्यूज़

खत्म हुआ बगदादी का किस्सा , सुरंग में परिवारीजनों संग खुद को विस्फोट में उड़ाया

अमरीकी सेना के कुत्तों ने बग़दादी का पीछा किया मौत के डर से भागा बगदादी।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

कहावतों में सुना है कि अपराध और आतंक की उम्र ज्यादा नही होती, लेकिन असल दुनिया मे हर बार ऐसा नही होता, आतंक एक सोच और विचारधारा बन कर फैल जाता है जिसे खत्म करना लगभग नामुमकिन सा हो जाता है, भारत मे एक ओर जहां असत्य पर सत्य की विजय के उपरांत अयोध्या वापसी के उपलक्ष्य में घी के दीपक जलाएं जा रहे थे वही अमेरिका के प्रेजिडेंट दुनिया को ट्विटर पर संकेतो में कुछ बताने की कोशिश कर रहे थे।

आखिरकार अगके दिन व्हाइट हाउस ने बाकायदा इसकी ब्रीफिंग के साथ दुनिया को यह बताया कि आईएसआईएस (ISIS) चीफ स्वघोषित खलीफा अबू बकर अल-बगदादी एक सुरंग में अपने तीन बच्चों और अन्य समर्थकों समेत आत्मघाती विस्फोट में मारा गया।

गौरतलब हो बगदादी को अमेरिकी फौज ने लंबे समय से विश्व के नम्बर एक आतंकी पर अपना शिकंजा कसना शुरू किया था, पिछले कुछ दिनों से अमेरिकी सेना बड़ी सख्ती से बगदादी के कदमो के निशानों को परख रही थी और अंतिम समय मे बगदादी को अमेरिकी सेना के विशेष कमांडोज "डेल्टा कमांडो" ने बेहद अप्रत्याशित तरीके से घेर लिया, और कार्यवाही शुरू कर दी।

घटना का स्थल सीरिया के इदबिल प्रांत के अंतर्गत आने वाले सुदूर स्थित गांव बरिसा में बीते शनिवार की रात कमांडोज ने अपनी कार्यवाही को अंजाम दिया, इस कार्यवाही में सेना ने पैदल कमांडोज के अलावा हेलीकॉप्टर का भी इस्तेमाल किया, हालकि स्थानीय निवासी इस तरह के रोजाना होने वाले ऑपरेशन के अभ्यस्त थे लेकिन जब एक मकान को निशाना बनाकर हेलीकॉप्टर ने हमले शुरू किए और उसी मकान पर हेलीकॉप्टर लंबे समय तक मंडराता रहा तब लोगों ने इसे बड़ा ऑपरेशन माना।

70 कमांडोज ने दिया ऑपरेशन को अंजाम:

अमेरिकी सेना ने पूरी गोपनीय सूचना के बाद करीब 70 डेल्टा कमांडोज इस ऑपरेशन के लिए नियत किये और ऑपरेशन को अंजाम दिया, इंटेलिजेंस के अनुसार आईएसआईएस चीफ अबु बकर अल बगदादी अपने परिवार के सदस्यों के साथ इस गांव के एक मकान में छुपा हुआ है, तभी सेना ने इसी मकान को निशाना बनाकर ऑपरेशन चलाया और नतीजन पकड़े जाने के डर से बगदादी ने अपने परिवार और समर्थकों के सहित खुद को एक विस्फोटक से उड़ा लिया, और मौके पर सभी लोग मारे गए, प्रेसिडेंट ट्रम्प के अनुसार "बगदादी एक कुत्ते की मौत मरा, वह मरते वक्त बेहद कायरता से भरा हुआ था।

ट्रम्प देख रहे थे लाइव स्ट्रीमिंग :

यह ऑपरेशन पाकिस्तान के एटबाबाद सरीखा ही था, जिसमे अमेरिकी सेना ने पाकिस्तान में घुसकर लादेन को ठिकाने लगाया था, अमेरिकी प्रेसिडेंट ट्रम्प इस ऑपरेशन को लगातार लाइव देख रहे थे और कमांडोज का साहस बढ़ा रहे थे, बगदादी की दोनो बीबियों ने इस ऑपरेशन के समय खुद को शरीर पर बंधे हुए विस्फोटक से खुद को उड़ाने की कोशिश की लेकिन इससे पहले ही कमांडोज ने उन दोनों को गोली मार दी, और मौके पर मौत हो गयी कमांडोज को देखकर बगदादी को अपने सामने मौत नाचती नजर आने लगी थी, और वह उनसे बचकर चारो ओर भागने लगा था, और अपने तीन बच्चों के साथ एक सुरंग में जाने की कोशिश करने लगा, हालकि कमांडोज ने उसके पीछे तीन प्रशिक्षित कुत्ते लगा दिए तभी बगदादी ने खुद को विस्फोटक से उड़ा लिया और इस तरह दुनिया से एक बड़े आतंकी की कहानी समाप्त हो गयी।

ट्रंप ने कहा, “अमेरिकी सेना से डर कर वह एक डेड-एंड सुरंग में गया और मारा गया। वह अपने आखिरी समय में रोता-चिलाता, चीख पुकार करता रहा। जिस बदमाश ने दूसरों को डराने-धमकाने की इतनी कोशिश की, उसने अपने अंतिम क्षणों को पूरी तरह से भय और अमेरिकी बलों के खौफ में बिताया।”उन्होंने कहा कि इस ऑपरेशन में एक भी अमेरिकी सैनिक नहीं मारा गया है लेकिन बगदादी के कई साथी उसके साथ मारे गए हैं।

बगदादी आतंक का 'खलीफा':

अल-कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन के बाद से अबू बक्र अल-बगदादी दुनिया का सबसे वांछित आतंकवादी नेता था। उत्तर-पश्चिम सीरिया में अमेरिका के रात भर (शनिवार) चले विशेष अभियानों में उसकी मौत हो गई।

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के मुताबिक, उसे एक निर्मम आतंकवादी के रूप में याद किया जाएगा। इराक और सीरिया में तथाकथित 'खलीफा' की घोषणा करने और दुनिया भर में पवित्र युद्ध के नाम पर खूनखराबा करने का वह दोषी था।

आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) का मुखिया अपनी मौत के समय 48 वर्ष का था, उसने धर्म के नाम पर हजारों नागरिकों की हत्या करवाई।

क्रूर दंड के जरिए आतंकी संगठन आईएस ने क्षेत्र में अपना शासन लागू किया, जो इस्लाम की शुरुआती व्याख्याओं से प्रेरित मध्ययुगीन रीति-रिवाजों पर आधारित था।

आतंकी बगदादी के शासनकाल को विशेष रूप से बर्बर तरीकों के लिए याद किया जाएगा, जिसमें युद्ध, भयावहता, यातनाओं और फांसी के पेशेवर वीडियो शामिल हैं।