उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Encounter
Encounter|Google
टॉप न्यूज़

हैदराबाद गैंगरेप के चारो आरोपी पहुँचाये गए नर्क, भागने की कोशिश में पुलिस ने चारों को गोली मारी

हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म मामले के सभी 4 आरोपियों को पुलिस ने मार गिराया 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

एक ओर जहां देश हैदराबाद गैंगरेप के चारो आरोपियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने के लिए उबाल मार रहा था वहीँ आज तड़के-तड़के इस मामले को लेकर एक बेहद रोमांचित करने वाली खबर आई है, प्राप्त सूचना के अनुसार चारो आरोपियों को पुलिस ने भागने की कोशिश में मार गिराया।

गौरतलब हो कि चारो आरोपी वेटनरी डॉक्टर के साथ बलात्कार करने और जिंदा जलाने के आरोपी थे, प्राप्त सूचना के आधार पर यह जानकारी मिली है कि पुलिस के पास रिमांड आने पर चारो आरोपियों को घटनास्थल पर ले जाकर सीन री क्रिएट किया जा रहा था, ताकि इस मामले में मजबूत से मजबूत आरोप बनाया जा सके, इसी बीच चारो आरोपियों ने मौके से फरार होने की कोशिश की, आरोपियों के मन मे इस मामले को लेकर ख़ौफ़ बैठ चुका था कि सारा देश उनके कुकर्म के खिलाफ है इस लिए अदालत से फांसी की सजा मिलनी तय है, अतः चारो आरोपियों ने मौका ए वारदात से भागना ठीक समझा लेकिन तेलंगाना पुलिस पहले से मुस्तैद थी या कहे की मौके की तलाश में थी आरोपियों ने गलत कदम उठा कर मौत को दावत दे दी।

अभी तक प्राप्त सूचना के अनुसार चारो आरोपी पुलिस एनकाउंटर में मारे जा चुके है, पूरी जानकारी के लिए प्रतीक्षा की जा रही है।

युवा डॉक्टर के साथ हुई दर्दनाक घटना के बाद देशभर में गुस्से की लहर देखने को मिली थी और अपराधियों को तत्काल मौत की सजा देने की मांग की गई थी।

पीड़िता के परिवार ने कहा, न्याय मिला :

हैदराबाद में सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या की शिकार हुई पशु चिकित्सक के परिवार ने शुक्रवार को कहा कि इस क्रूर घटना को अंजाम देने वाले सभी चार आरोपियों के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने से उन्हें न्याय मिला। पीड़िता के परिवार के लिए शुक्रवार की सुबह मिली खबर भावुक करने के साथ ही सुकून देने वाली थी। खबर यह थी कि तेलंगाना पुलिस ने सभी आरोपियों की उसी स्थान पर गोली मारकर हत्या कर दी, जहां उनकी बेटी की 27 नवंबर को सामूहिक दुष्कर्म व हत्या करने के बाद उसके शव को जला दिया गया था।

हैदराबाद के बाहरी क्षेत्र शमशाबाद में रहने वाले पीड़िता के पिता ने कहा, "इससे उसे शांति मिलेगी।" इसके साथ ही उन्होंने तेलंगाना सरकार पुलिस और उन सभी लोगों को धन्यवाद किया, जो मुश्किल घड़ी में उनके साथ खड़े रहे।

उन्होंने आगे कहा, "मुझे मेरी बेटी वापस नहीं मिलेगी, लेकिन इससे एक सख्त संदेश जरूर जाएगा। इससे डर पैदा होगा और मेरी बेटी के साथ जो हुआ उसे दोबारा करने की अपराधियों की हिम्मत नहीं होगी।"

25 वर्षीय पशु चिकित्सक के साथ 27 नवंबर की रात शमशाबाद में आउटर रिंग रोड के पास दो ट्रक ड्राइवरों और दो क्लीनरों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इसके बाद चारों ने घटनास्थल से 28 किलोमीटर दूर शादनगर शहर के पास शव ले जाकर उसे आग के हवाले कर दिया था।

पुलिस चारों आरोपियों को शुक्रवार की सुबह को घटना को दोबारा रीक्रिएट करने के लिए घटनास्थल पर लेकर आई थी। कथित तौर पर चारों आरोपियों ने वहां से भागने की कोशिश की थी, जिसके बाद पुलिस मुठभेड़ में वे मारे गए।