लॉकडाउन 2.0 में काफी मददगार साबित होगा “आरोग्य सेतु एप”, जानें कैसे

लॉकडाउन के अगले चरण में आरोग्य सेतु एप की अहम भूमिका रहेगी, यही वजह है की पीएम मोदी ने एक नहीं बल्कि दो-दो बार अपने संबोधन में जनता से इसे डाउनलोड करने की अपील की है
लॉकडाउन 2.0 में काफी मददगार साबित होगा “आरोग्य सेतु एप”, जानें कैसे
Arogya Setu Appudaybulletin

कोरोना वायरस का संक्रमण पूरे विश्व में तबाही मचा रहा है और महामारी से लड़ाई अभी भी जारी है। जब से यह संक्रामक और जानलेवा वायरस सम्पूर्ण विश्व को अपनी काली छाया में समटते जा रहा है उसके बाद से ही हर देश अपनी अपनी तरह से इससे निपटने की पुरजोर कोशिश कर रहा है। अभी तक इस वायरस की वजह से दुनियाभर में 18 लाख से ज्यादा केस आ चुके हैं जिनमे 1 लाख से ज्यादा लोगों की मौत भी हो चुकी है।

वहीं बात करें भारत की तो ताजा आंकड़ों के अनुसार 9000 से ज्यादा केस आ चुके हैं और 300 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। चूँकि अभी तक इसकी कोई दवा नहीं बन पायी है मगर इसी बीच भारत ने कोरोना वायरस से लोगों को सचेत करने के लिए एक मोबाइल एप बनाया है जिसका नाम "आरोग्य सेतु" है। यह एप विकट परिस्थितियों में काफी ज्यादा सहायक साबित हो रहा है।

आरोग्य सेतु एप
आरोग्य सेतु एपgoogle

क्या है आरोग्य सेतु एप और कैसे करता है काम

सबसे पहले तो आपको ये बता दें कि यह एप पूर्ण रूप से भारतीय है और इसे तमिलनाडु सरकार की मदद से तैयार किया गया है। इस ऐप का जिक्र खुद प्रधानमंत्री ने देश को संबोधित करते हुए किया था और उन्होंने सभी देशवासियों से अपील भी की थी इस कि एप को हर कोई अपने अपने फोन में रख लें क्योंकि यह बड़े काम की चीज है जो बताता है की आपको कोरोना टेस्ट करवाने की आवश्यकता है या नहीं। इसके अलावा इसकी मदद से आप यह भी जान सकते हैं कि आपके आसपास कहीं कोई कोरोना संक्रमित मरीज तो नहीं है।

जानकारी के लिए बताते चलें कि अलग अलग भाषाओँ में उपलब्ध यह एप कोरोना से जंग लड़ने में काफी उपयोगी माना जा रहा है। यही नहीं और तो और भारत की इस उपलब्धि पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी काफी तारीफ़ की है। वैसे यह पहला मामला नहीं है जब WHO ने कोरोना से जंग में भारत की तारीफ़ की हो, फिर चाहे वह 'जनता कर्फ्यू' की बात हो या फिर सम्पूर्ण लॉकडाउन की।

ई-पास के रूप में हो सकता है आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल

सरकार और स्वयं पीएम मोदी बार बार लगातार आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करने की अपील कर रहे हैं और ऐसा इसलिए क्योंकि एक तो यह कोरोना ट्रैकर एप है यानी कि ये आपको किसी भी कोरोना संदिग्ध क्षेत्र में जाने से पहले से सचेत कर देता है।

दूसरा, पीएम ने यह भी कह दिया है की अब इस एप का इस्तेमाल कोई भी नागरिक ई-पास के रूप में कर सकता है। जी हाँ, यानी लॉकडाउन जैसी परिस्थिति में जहाँ हर किसी को घर में रहने का आदेश है उस दौरान आप इस एप का इस्तेमाल कहीं आने जाने के लिए भी कर सकते हैं।

इस एप को गूगल और एप्पल दोनों के प्लेस्टोर से आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है और आपको यकीन नहीं होगा कि सिर्फ चंद दिनों में ही करीब 2 करोड़ से भी ज्यादा लोग इसे डाउनलोड कर चुके हैं।

आरोग्य सेतु एप
आरोग्य सेतु एपgoogle

कैसे करें इसका प्रयोग

बेहद ही साधारण से इस एप में आपको अपने मोबाइल नंबर के साथ रजिस्टर करना होगा जिसके बाद आपको 'सेल्फ असेसमेंट टेस्ट' से गुजरना होगा जो की पहले से इस एप में दिया गया है। इस टेस्ट की मदद से आपको उन सभी लक्षणों के बारे में जान सकते हैं और लगातार चेक भी कर सकते हैं जिसकी वजह से कोरोना संक्रमण का पता चल सके।

आरोग्य सेतु एप की मदद से यह सुनिश्चित हो जाता है की आपको किसी चिकित्सक के पास जाकर टेस्ट करवाने की जरूरत है या नहीं। सिर्फ इतना ही नहीं इस एप में आपको सभी प्रदेशों तथा केंद्र सरकार द्वारा हेल्पलाइन नंबर भी मुहैया कराये गए गए हैं ताकि किसी भी आपात स्थिति में आप उन नंबर पर संपर्क कर सकें।

पीएम मोदी ने आज राष्ट्र को संबोधित करते हुए एक बार फिर से आरोग्य सेतु एप के बारे में चर्चा की और लोगो से इसे डाउनलोड करने की भी अपील की। हालाँकि इसमें कोई दो राय नहीं है कि भारत ने बेहद कम संसाधन और सीमित चिकित्सकीय सुविधाओं के बीच इतनी बड़ी महामारी से टक्कर ली है और अपने देशवासियों की रक्षा कर रहा और तक़रीबन उसमे सफल भी हो रहा और यक़ीनन यह बेहद ही साहसिक कदम है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com