उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Kashmir News
Kashmir News|IANS
टॉप न्यूज़

खरीदारी के लिए बना कश्मीर का नया टाईम-टेबल और सेना कमांडर ने कश्मीर की सुरक्षा का लिया जायजा 

धारा 370 का विरोध करने का अनोखा तरीका अपना रहे चंद दुकानदार। 

Abhishek

Abhishek

कश्मीर में दुकानदारों ने अनुच्छेद 370 को हटाने का विरोध करने के लिए एक अनूठा तरीका अपनाया है। सुबह के दौरान कुछ ही घंटों के लिए बाजार खोला जाता हैं और फिर शाम के समय थोड़ी देर के लिए ही दुकानें खुलती है। बाजार जब खुलता है, तब दुकानों में लोगों की सक्रियता बढ़ जाती है और ग्राहकों की भीड़ लग जाती है।

बटमालु क्षेत्र में किराने की दुकान चलाने वाले निसार अहमद ने कहा, "यह धारा 370 को हटाने के विरोध में अपना विरोध दर्ज कराने का एक लोकतांत्रिक तरीका है।"

अशांत कश्मीर में 2008, 2010 और 2016 में कई महीनों तक बुलाए गए बंद और विरोध का नेतृत्व अलगाववादी नेता करते थे। लेकिन इस बार किसी तरह के बंद का आह्वान नहीं किया गया है।

बाई पास क्षेत्र में दुकान चलाने वाले बशीर अहमद ने कहा, "यह धारा 370 को हटाने के खिलाफ एक सहज प्रतिक्रिया है।"

हालांकि जितनी देर तक दुकानें बंद रहती हैं, उतनी देर तक ये विक्रेताएं कुछ अन्य जगहों पर अपना कारोबार चलाते हैं। श्रीनगर में बटमालू बस स्टैंड और दालगेट जैसी जगहों पर विक्रेता फल और सब्जियां बेचते हैं।

इस पर सरकार का कहना है कि ऐसा करने पर उनपर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा, लेकिन उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई जरूर की जाएगी, जो दूसरों की दुकान जबरदस्ती बंद कराते हैं।

सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा, "व्यावहारिक रूप से कोई प्रतिबंध नहीं है। इसका अर्थ है कि दुकानदार किसी भी तरह से दुकान खोल सकते हैं, इसमें कोई बाधा नहीं है। लोग अपनी दुकानें खोलने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन हम इस बात का भी ख्याल रख रहे हैं कि उग्रवादियों या देशद्रोहियों द्वारा जबरदस्ती दुकानदारों को अपनी दुकानें बंद करने पर मजबूर न किया जाए। अगर कोई शरारती तत्व ऐसा करता है, तो उन पर कार्रवाई की जाएगी।"

इसी बीच सेना कमांडर ने कश्मीर की सुरक्षा का जायजा भी लिया।

उत्तरी सेना कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने क्षेत्र में मौजूदा सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करने के लिए शुक्रवार को कश्मीर घाटी का दौरा किया। चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के. जे. एस. ढिल्लों ने उत्तरी कश्मीर के भीतरी इलाके व नियंत्रण रेखा का दौरा किया।

Army Commander Kashmir Visit
Army Commander Kashmir Visit
IANS

सरकार की ओर से जारी एक बयान में कहा, "उन्हें हाल की घुसपैठ और आतंकवाद रोधी अभियानों के बारे में जानकारी दी गई। साथ ही क्षेत्र में तैनात कमांडरों द्वारा की जा रही समग्र सुरक्षा से संबंधित जानकारी भी दी गई। सेना कमांडर ने नियंत्रण रेखा पर निगरानी के लिए और कश्मीर के लोगों को मानवतावाद के मोर्चे पर मदद करने के लिए कमांडरों और सैनिकों को बधाई दी।"

इस दौरान सेना कमांडर ने सुरक्षाबलों द्वारा लोगों की सुरक्षा और भलाई के लिए किए जा रहे कामों की भी सराहना की।

सेना कमांडर ने घाटी में एक कठिन परिस्थिति में काम कर रहे सभी सुरक्षा बलों और प्रशासन के बीच बेहतर तालमेल को भी सराहा। उन्होंने यह भी कहा कि भारत के दुश्मनों और सभी राष्ट्र-विरोधी ताकतों के बुरी सोच को मात देने के लिए पूरी तरह से तैयार होने की आवश्यकता है।