उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Vehicle Callahan
Vehicle Callahan|Twitter
टॉप न्यूज़

नेता जी की गाड़ी का हुआ चालान, क्रेन चालक को हुई कुटाई  

“पर उपदेश कुशल बहुतेरे” तुलसीदास जी फर्जी में थोड़ा लिखे थे, भविष्य देखा था भविष्य....  

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

  • एक कहानी है, छोटी है जल्दी में भी सुन सकते है

एक बुढ़िया अपने तीन साल के नाती के साथ महात्मा बुद्ध के पास पहुंची और कहा कि भंते ये बालक गुड़ बहुत खाता है, महात्मा बुद्ध उस समय भोजन कर रहे थे ,सो सरसरी नजर अपनी पत्तल और बच्चे पर डाली और कहा एक सप्ताह बाद आना, वक्त बीत गया महिला बच्चे के साथ आश्रम फिर पहुँची, बुद्ध ने बच्चे को देखा और कहा बेटा , ज्यादा गुड़ मत खाओ, इसके विकल्प शहद को खा सकते है, बच्चे ने हाँ में सिर हिलाया, लेकिन महिला को अचरज हुआ, और बोली भगवन ये बात तो आप उस दिन भी कह सकते थे?

बुद्ध हंसे और बोले उस समय तक मैं खुद गुड़ खाने में ज्यादा रुचि लेता था, ये एक सप्ताह का समय मेरे लिए था,

तो इस कहानी से आपने क्या सीखा ? सीखना कुछ नही बस प्रस्तावना बतानी थी, इसका असल सार खबर के अंत मे समझ मे आएगा....

अब आते हैं असल मामले पर, मामला उत्तर प्रदेश के बरेली जिले का है , वही भरतौल वाले बरेली का , फिर भी न समझ आया हो तो "झुमका गिरा से बरेली के बाजार वाला बरेली" समझ गए न ?

इस से पहले एक बात तो बतानी रह ही गयी, आज कल मुँहनोचवा के बाद किसी चीज का ख़ौफ़ है तो चलान का , नए मोटर व्हीकल एक्ट का,कभी गुरुग्राम कभी दिल्ली, कभी बैंगलोर सब जगह नई-नई ख़बरें लगातार आ रही हैं, ऐसा ही कुछ वाक्या हो गया बरेली में , दरअसल बरेली के बीजेपी महानगर उपाध्यक्ष देवेंद्र जोशी जी की गाड़ी कोतवाली इलाके में बिना पार्किंग के गलत जगह खड़ी थी, ट्रैफिक पुलिस पहुंची और ताव देखा न आव और गाड़ी क्रेन पर टांग कर निकल लिए।

मामला अब इज्जत का हो गया, बीजेपी के महानगर उपाध्यक्ष की गाड़ी को पुलिस  उठा के ले गयी, सारा रसूख मिट्टी में मिल गया, फिर क्या था नेता जी अपने चेले-चपाटियों के साथ पहुँच गए  पुलिस अधीक्षक ऑफिस, काफी हो हल्ला हुआ, नारेबाजी हुई, और इतना होते-होते कहीं से क्रेन ड्राइवर नजर आ गया, फिर क्या था नेता जी के भक्तों का सारा गुस्सा ड्राइवर पर निकल गया, और क्रेन ड्राइवर को मार-मार के सुजा दिया गया।

मामला तब और देखने लायक हुआ जब नेतागिरी के आगे एसपी साहब झुके और पिटे हुए ड्राइवर से माफी मंगवाई गयी।

वरिष्ठ पत्रकार पंकज झा का ट्वीट:

सनद रहे यही भाजपाई नए मोटर व्हीकल एक्ट की आरती गा-गा कर वंदन अभिनदंन कर रहे थे, और जब ये नियम नेता जी पर ही भारी पड़ गया तो सारा नियम घोल कर पी गए।

अब समझ मे आया गुड़ और बुद्ध की कहानी का मेल जोल इस घटना के साथ ?

जब हम खुद पाक साफ हो तभी कोई कदम उठाए, क्योकि हो सकता है आपको खुद आपके ही फैलाये रायते को समेटना पड़ जाए।