उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Former Congress President Rahul Gandhi
Former Congress President Rahul Gandhi|Social Media
टॉप न्यूज़

जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर राहुल 100 फीसदी मोदी सरकार के साथ !

सुप्रीम कोर्ट में आज कश्मीर मसले पर सुनवाई हुई। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

आज जम्मू-कश्मीर के लिए बहुत बड़ा दिन है, सुप्रीम कोर्ट में कश्मीर के कई मसलों पर आज सुनवाई हुई, कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अभी वहां के हालात सामान्य नहीं है, लेकिन धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं सरकार को थोड़ा समय और दिया जाना चाहिए, कोई भी चीज़ रातों-रात नहीं बदली जा सकती है।

जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस देते हुए कहा कि अब जम्मू-कश्मीर और अनुच्छेद 370 मामले की सुनवाई 1 अक्टूबर से होगी, पांच जजों की संवैधानिक पीठ इस मामले में सुनवाई करेगी। इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर में मीडिया की आजादी को लेकर भी केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है और सात दिन के अंदर जवाब देने को कहा है।

जम्मू-कश्मीर के लिए आज का दिन इसलिए भी बड़ा है क्योंकि आज पहली बार देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस ने कश्मीर मुद्दे पर साफ़-साफ अपना रुख जनता के सामने रखा है। कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि "पाकिस्तान कांग्रेस और राहुल गांधी के नाम का गलत इस्तेमाल कर रहा है, ताकि वो अपने झूठ को सच साबित कर सके। इसमें कोई शक नहीं कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न अंग है और इससे जुड़े किसी भी मामले में दूसरे मुल्क को बोलने का कोई अधिकार नहीं है। पाकिस्तान की इन हरकतों से सच नहीं बदल सकता, जम्मू-कश्मीर भारत का अंग है और हमेशा बना रहेंगा।”

सुरजेवाला ने कहा कि 'हमारी पार्टी जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ है, इस प्रक्रिया से हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों का हनन हुआ है लेकिन पाकिस्तान को हमारे इस मामले में दखल देने की कोई जरुरत नहीं है, हमारी पार्टी सरकार के फैसले का समर्थन करती है।’

रणदीप सुरजेवाला से पहले कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस मामले में अपनी सफाई दी है। राहुल ने ट्वीट करते हुए कहा कि "मैं मोदी सरकार से कई मुद्दों पर असहमत हूं, लेकिन इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत का अभिन्न अंग है और यहां पाकिस्तान और किसी भी अन्य देश के लिए कोई जगह नहीं है।"

राहुल ने कहा कि "जम्मू-कश्मीर में हिंसा हो रही है। हिंसा इसलिए हो रही है क्योंकि यह पाकिस्तान द्वारा उकसाया और प्रायोजित आतंकवाद है। पाकिस्तान दुनिया भर में आतंकवाद का प्रमुख समर्थक है।"

दरअसल जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद, पाकिस्तान बौखला गया है, और इस मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय मंच पर लेकर जाना चाहता है, लेकिन भारत की मजबूत विदेशी नीतियों की वजह से उसे हर बार मुँह की खानी पड़ती है, विश्व के सभी देश इसे भारत का अंदरूनी मसला मानते हैं, इसलिए पाकिस्तान अब बचकाना हरकत पर उतारू हो गया है। राहुल गांधी को जब जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कश्मीर में एंट्री नहीं दी तो राहुल ने गुस्से में आकर मोदी सरकार पर कई आरोप लगाए , जिसे लेकर पाकिस्तान UN (United Nation) पहुंच गया और कश्मीर का राग अलापने लगा।

अब राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर अपनी राय साफ़ करते हुए पाकिस्तान को लताड़ लगाई है और इससे दूर रहने को कहा है। अब देखना ये है कि इमरान खान का अगला कदम क्या होगा है।