उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
ट्रंप-मोदी की दोस्ती से इमरान दुखी 
ट्रंप-मोदी की दोस्ती से इमरान दुखी |Social Media
टॉप न्यूज़

ट्रंप-मोदी का दोस्ताना, इमरान दुखी क्यों ?

G-7 सम्मेलन में ट्रंप और मोदी की मुलाकात 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

फ्रांस के बिआरित्ज में आयोजित हुए G-7 सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच बैठक हुई, जिसमें प्रधानमंत्री मोदी ने कश्मीर का मसला ट्रंप के सामने रखा और कहा कि यह भारत पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला है इसपर मध्यस्थता करने का कष्ट ना करें, प्रधानमंत्री मोदी के इस रुख से ट्रंप भी सहमत हो गए और मध्यस्थता वाले अपने प्रस्ताव से पीछे हट गए। जिसके बाद ट्रंप ने कहा कि भारत और पाकिस्तान 'कश्मीर मसले को खुद हल कर सकते हैं', लेकिन पाकिस्तान, भारत और अमेरिका के इस रवैये से बौखला उठा और परमाणु हमले की धमकी लेने लगा। हालांकि पीएम मोदी पाकिस्तान से परमाणु हमले की धमकी मिलने के बाद भी पाकिस्तानी एयरस्पेस का इस्तेमाल कर स्वदेश वापस लौट आए।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने क्या कहा

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्रंप और मोदी की बैठक के बाद पाकिस्तानी आवाम से बात की और भरोसा जताया कि उनकी सरकार कश्मीर के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। इमरान खान ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा कर बहुत बड़ी गलती कर दी है, ऐसा करके उन्होंने कश्मीर की 'आजादी' का रास्ता खोल दिया है।

इमरान खान ने कहा कि भारत सरकार इस समय आरएसएस के अनुसार चल रही है, आरएसएस चाहता था कि हिंदुस्तान हिन्दुओं का मुल्क रहे, अंग्रेजों से आजदी मिलने के बाद भारत अब मुसलमानों से भी आजाद होना चाहता है। इसलिए उनके अधिकारों को ख़त्म कर रहा है। लेकिन जम्मू-कश्मीर के लिए पाकिस्तान किसी भी हद तक जाएगा। हमने इस मुद्दे को विश्व समुदाय में लाकर रख दिया है अब सारे देश एकजुट होकर कश्मीर मसले का हल निकालेंगे और कश्मीर आजाद होगा। भारत को ये नहीं भूलना चाहिए की भारत-पाकिस्तान दोनों एटमी मुल्क हैं, अगर जंग हुई तो हम चुप नहीं बैठेंगे, दोनों मुल्क तबाह होंगे।

डोनाल्ड ट्रंप का मध्यस्थता से इनकार

हालांकि जब मोदी और ट्रंप की बात हुई तो अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने से इनकार कर दिया। उन्होंने पीएम मोदी से सहमती जताते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर का मसला भारत और पाकिस्तान दोनों देशों का द्विपक्षीय मुद्दा है। मोदी और इमरान खान दोनों मेरे अच्छे दोस्त हैं, दोनों से मेरी बातचीत होती है, लेकिन दोनों देश आपसी सहमती से इसे हल कर सकते हैं।

डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात से पहले प्रधानमंत्री मोदी UAE पहुंचे थे जहां उन्हें UAE का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार 'ऑर्डर ऑफ जायद' से सम्मानित किया गया। खाड़ी देश की इस यात्रा पर UAE सरकार ने भारत और भारतीय नागरिकों के प्रति सद्भाव प्रदर्शित करते हुए 250 भारतीय कैदियों को रिहा कर दिया।