उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Former Finance Minister P.Chidambaram
Former Finance Minister P.Chidambaram|Social Media
टॉप न्यूज़

15 घंटे से CBI की गिरफ्त में हैं पी.चिदंबरम, अपने भ्रस्ट नेता को बचाने के लिए कांग्रेस लगा रही एड़ी-चोटी का जोर ?

पी.चिदंबरम के समर्थन में कांग्रेस का प्रेस कॉन्फ्रेंस। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

INX मीडिया मामले में कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त पी.चिदंबरम की गिरफ़्तारी के बाद कांग्रेस, केंद्र सरकार पर आरोप लगा रही है कि 'ये बदले की राजनीति के तहत की गई गिरफ़्तारी है'। पी.चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम का कहना है कि 'भारतीय जनता पार्टी अनुच्छेद 370 और उसके प्रभाव से लोगों का ध्यान भटकाना चाहती है इसलिए पी.चिदंबरम को गिरफ्तार किया गया है।'

जबकि भारतीय जनता पार्टी ने इस आरोप का जवाब देने के लिए दिल्ली हाई कोर्ट के उस फैसले को दोहराया है जिसमें कोर्ट ने पी.चिदंबरम की गिरफ़्तारी पर कहा था कि 'ये मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में सबसे उत्कृष्ट उदारहण है, ये बदले की राजनीति के तहत नहीं किया गया है।'

बताया जा रहा है कि सीबीआई आज पी. चिदंबरम को अदालत में पेश करेगी लेकिन उससे पहले कुछ सवाल पूछे जाएंगे। सीबीआई ने बताया है कि चिदंबरम जांच में सहयोग नहीं कर रहे और ना ही हवालात में रहना चाहते हैं, उन्हें जेल में अकेले रहने से भी डर लगता है। सीबीआई ने बताया है कि हम चिदंबरम से केस से जुड़े सवाल और इस विवादित डील की मंजूरी के बारे में सवाल करना चाहते हैं जो उन्होंने वित्त मंत्री रहते हुए दिए थे।

इन सवालों का जवाब चाहती है सीबीआई

  • INX मीडिया से सबसे पहले किसने आपके साथ संपर्क किया ?
  • पीटर और इन्द्राणी मुखर्जी को कैसे जानते हैं आप ?
  • इन्द्राणी मुखर्जी के साथ कोई पत्रकार भी आपके संपर्क में था ?
  • INX मीडिया को कितने का FIPB (Foreign Investment Promotion Board) निवेश मिला ?
  • INX मीडिया को 305 करोड़ का विदेशी निवेश कैसे मिला ?

बीजेपी का आरोप

पी. चिदंबरम की गिरफ़्तारी पर बीजेपी का कहना है कि 'जब भी कोई व्यक्ति जुर्म करता है तो खुद को बेगुनाह ही कहता है, साल 2007 से कांग्रेस और उनके सहयोगी दल घोटाला कर रहे थे और अब जा कर उनपर कार्रवाई की जा रही है।’ हमें कभी नहीं भूलना चाहिए कि दिल्ली हाई कोर्ट के जस्टिस सुनील गोड़ ने INX मीडिया केस के मामले में क्या कहा था, पी. चिदंबरम की गिरफ़्तारी के आदेश पर उन्होंने कहा था कि 'हो सकता है कि आप लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य हो, या कोई मंत्री हो लेकिन कानून सबके लिए बराबर है। किसी के नेता होने से कानून उसे विशेष लाभ नहीं देगा। कानून की नज़र में सब बराबर है।’

कांग्रेस का बचाव

वहीं इस मामले में कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि 'मोदी सरकार एक-एक कर लोकतंत्र की हत्या कर रही है, सरकार शर्मनाक तरीके से जांच एजेंसी, ED और सीबीआई का दुरुपयोग कर रही है।

कांग्रेस का कहना है कि ‘सरकार चिदंबरम जी की गिरफ़्तारी के बहाने कांग्रेस पार्टी पर हमला करना चाहती है। हमलोग जंतर-मंत्री के सामने धरना देंगे। मोदी सरकार के पास चिदंबरम जी के खिलाफ एक भी सबूत नहीं है और ना ही कोई FIR है। सीबीआई ने अब तक कोई सबूत जमा नहीं किये हैं फिर उन्हें क्यों गिरफ्तार किया गया है।’

क्या है मामला ?

  • दरअसल यह मामला साल 2007 में शुरू हुआ था ,जब पी.चिदंबरम देश के वित्त मंत्री थे।
  • साल 2007 में INX मीडिया से जुड़ी एक विवादित डील फाइनल की गई थी।
  • INX मीडिया को FIPB की तरफ से 4.61 करोड़ रूपये की FDI मंजूरी दी गई थी।
  • बदले में INX मीडिया ने 335 करोड़ रूपये की FDI की।
  • इन्द्राणी मुखर्जी जो INX मीडिया की पूर्व निर्देशक रही हैं, उन्होंने पी.चिदंबरम के खिलाफ बयान दिया था।
  • इन्द्राणी ने बताया था कि INX मीडिया ने FIPB से FDI अपील की थी, जिसके बदले पी.चिदंबरम ने उन्हें कार्ति चिदंबरम के बिज़नेस में सहयोग करने को कहा था।
  • सीबीआई ने इन्द्राणी मुखर्जी के बयान पर पी.चिदंबरम को बुधवार रात गिरफ्तार किया।
  • पी.चिदंबरम और उनके बेटे कृति चिदंबरम का कहना है कि उन्होंने कभी भी इन्द्राणी मुखर्जी से मुलाकात नहीं की।