उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Rahul Gandhi Accept Satypal Malik Invitation
Rahul Gandhi Accept Satypal Malik Invitation|Social Media
टॉप न्यूज़

राहुल गांधी ने न्योता स्वीकार कर लिया, अब बिना शर्त कश्मीर जाएंगे 

सरकारी जहाज नहीं पर्सनल प्लेन से राहुल जाएंगे जम्मू-कश्मीर 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद सूबे में फैलती असंतोष की भावना और हालातों की जानकारी लेने के लिए जम्मू कश्मीर जाना चाहते हैं और इसके लिए उन्होंने प्रदेश के राज्यपाल सत्यपाल मालिक से एक बार ट्वीट करके पूछा है कि मैं कब जम्मू-कश्मीर आ सकता हूं ?

दरअसल राहुल गांधी बीते दिन केरल के वायनाड की यात्रा पर थे, जहां उन्होंने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया और लोगों को मदद देने की बात कही। जिसके बाद राहुल ने मीडिया से बातचीत की। जब उनसे जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने से सम्बंधित सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ‘जम्मू-कश्मीर से लगातार हिंसा की खबर आ रही है। प्रधानमंत्री मोदी को लोगों के सवालों का जवाब देना चाहिए।'

राहुल के इस जवाब पर जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल थोड़ा इमोशनल हो गए और उन्होंने कहा कि "मैं राहुल को यहां आने का न्योता देता हूं। उनके लिए प्लेन भेज रहा हूं। ताकि वो यहां आए और खुद जमीनी हालातों को देखें। राहुल आप जिम्मेदार इंसान हैं आपको इसतरह की बात सोभा नहीं देती।”

राहुल ने भी राज्यपाल के इस न्योते पर चौंका मार दिया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि “राज्यपाल मलिक जी, हमें प्लेन की जरुरत नहीं है, मैं और विपक्षी दलों के नेता जम्मू-कश्मीर आएंगे। बस आप हमें वहां स्‍वतंत्रतापूर्वक यात्रा, स्थानीय नेताओं से मिलने की आजादी, वहां तैनात सैनिकों से बातचीत और स्थानीय लोगों से मिलने की आजादी दे दें।"

राहुल के इस ट्वीट पर राज्यपाल सत्यपाल मालिक ने कोई जवाब नहीं दिया। जिसके बाद राहुल ने एकबार फिर ट्वीट किया और कहा-

'प्रिय मलिक जी,

मैंने ट्विटर पर आपका जवाब देखा, अब मैं जम्मू-कश्मीर के हालात देखने कब आऊं। मुझे आपका न्योता मंजूर है। मैं बिना शर्त जम्मू-कश्मीर की यात्रा करना चाहता हूं। आप बताइए मैं कब आऊं ?

राज्यपाल के अनुसार जम्मू-कश्मीर के हालात समान्य हैं। वहां कोई अप्रिय घटना नहीं हुई है। घाटी में अमन चैन का माहौल हैं, अब देखना ये है कि राज्यपाल राहुल के लिए प्लेन भेजते हैं या नहीं ?