उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
प्रियंका गाँधी के गुंडों ने पत्रकार को दी धमकी  
प्रियंका गाँधी के गुंडों ने पत्रकार को दी धमकी  |Social Media
टॉप न्यूज़

प्रियंका गांधी के गुर्गे ने दी पत्रकार को धमकी , बोले यही गाड़ दूंगा

पत्रकार से कहा बीजेपी से पैसा लेकर सवाल पूछते हो ?

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कांग्रेस के सितारे इन दिनों गर्दिश में चल रहे है, गाहे बगाहे इनकी बानगी संसद में और संसद के बाहर नजर आ ही जाती है। कभी अधीर रंजन का भरी संसद में जम्मू-कश्मीर के सेंसिटिव मुद्दे पर पाकिस्तान की जुबान बोलना हो या फिर प्रियंका गांधी के समर्थक द्वारा पत्रकारों को गाली गलौच करना हो, सब कही न कही कांग्रेस की राजनीतिक निराशा को दर्शा देता है।

मामला उत्तर प्रदेश के सोनभद्र गांव का है, जहाँ बकौल प्रियंका गांधी वह पीड़ितों से मिलने आई थी, लेकिन वही पर उपस्थित एबीपी न्यूज की सहयोगी न्यूज चैनल एबीपी गंगा के रिपोर्टर नीतीश पांडे ने प्रियंका गांधी से कश्मीर के अनुच्छेद 370 और 35A से जुड़े कुछ तीखे सवालों का जवाब मांगा , लेकिन तभी प्रियंका गांधी के समर्थक संदीप सिंह ने रिपोर्टर नीतीश पांडे पर शारीरिक बल का प्रयोग करते हुए बदतमीजी की और यह धमकी दी कि यहाँ से दफा हो जाओ नहीं तो जमीन में गाड़ दूंगा।

वायरल वीडियो

370 के बारे में पूछने पर प्रियंका गाँधी के सहयोगी संदीप सिंह ने ABPNews के नीतीश पांडे को धमकी देते हुए... कहा ऐसा...

Posted by Sumer Singh Gurjar on Tuesday, August 13, 2019

प्रियंका गांधी के उसी समर्थक ने पत्रकार के साथ धक्का मुक्की की और कैमरे को भी तोड़ने की जबरदस्त कोशिश हुई। इस मामले को लेकर जब पत्रकार ने प्रियंका गांधी से कहा तो वो अपने समर्थकों को कुछ न कहकर सिर्फ यह कहती हुई निकली की वह पीड़ितों से मिलने आये है।

वैसे प्रियंका गांधी कहने को तो कांग्रेस के जिम्मेदार पद पर है, लेकिन ऐसी हरकतें कही न कही उनकी राजनीतिक निराशा को दर्शा देता है, एक ओर जहां कांग्रेस और उनके अनुयायी अभिव्यक्ति की आजादी का ढिंढोरा पीटते नजर आते है, लेकिन जब बात अपने ऊपर हो तो यही ज्ञान कबूतर की माफिक गायब हो जाता है।

लोगों के अनुसार "आप के नेता पूरे हिंदुस्तान में बदजुबानी के लिए महशूर है , कहीं कोई टंच माल कहकर रायता फैलाता है तो कभी कोई महिला की उम्र के बारे में अश्लीलता भरे विचार फैलाता है।”

मुद्दा यह भी है कि आखिर सत्ता से विमुख होने पर इस तरह की हताशा कांग्रेस को कहां ले जाएगी, कांग्रेस और उसका संगठन बिल्कुल उस घेरे की तरह है जहां शिकायत लेने वाला और उस पर सुनवाई करने वाला और जिसकी शिकायत की गई है वह एक ही व्यक्ति है, तो ऐसे माहौल में कांग्रेस के लिए कोई कड़े कदम उठाना बेहद मुश्किल है।

हालांकि इस बात पर संज्ञान लेते हुए भारतीय पत्रकार एसोसिएशन समर्थक संदीप सिंह पर मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है, और अपने समर्थक का समर्थन करने के लिए संभव है कि प्रियंका गांधी को भी एक पार्टी बनाया जाए। वास्तव में यह समय कांग्रेस के लिए बेहद चिंता का है लेकिन फिर भी इस तरह की हरकतें कांग्रेस की छवि को और धूमिल बनाती है, खासकर मीडिया का इस तरह से तिरस्कार करना कांग्रेस के लिए गले की हड्डी बनने जैसा होगा।