उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर 
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर |Social Media
टॉप न्यूज़

कश्मीरी लड़कियों पर दिए विवादित बयान के बाद अब मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की सफाई 

राहुल गाँधी को जवाब देते हुए उन्होंने ये वीडियो शेयर किया है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर बीते शुक्रवार यानी 9 अगस्त को हरियाणा के फतेहाबाद में ओड समाज द्वारा आयोजित महर्षि भागीरथ जयंती समारोह कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे। मुख्यमंत्री जी वहां लोगों से सीधा संवाद कर रहे थे। लड़कियों की पढाई लिखाई, राज्य का लिंगानुपात और विभिन्न मुद्दों पर अपनी राय दे रहे थे। तभी वहां वो कश्मीरी लड़कियों पर कुछ ऐसा बोल गए, जिसपर लोग सवाल उठाने लगे। सोशल मीडिया से लेकर मेन स्ट्रीम मीडिया भी उनकी आलोचना करना लगा। यहां तक सभी राजनेता भी कहने लगे कि उन्हें ऐसा नहीं कहना चाहिए था।

जब जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मालिक से पूछा गया कि मनोहर लाल खट्टर के बयान पर आपकी क्या राय है। तो वो भी गुस्से में आ गये और कहा कि 'उन्हें ऐसे शब्दों का इतेमाल नहीं करना चाहिए। मैं उनके बयान की निंदा करता हूं। मेरी राय में उन्हें कश्मीरी आवाम से माफ़ी मांगनी चाहिए। खास कर कश्मीरी लड़कियों से। हम ऐसे बयान को बर्दाश्त नहीं कर सकते।'

केरल के वायनाड से लोकसभा सदस्य राहुल गांधी भी मुख्यमंत्री खट्टर के बयान से दुखी हैं। उन्होंने इस बयान की आलोचना करते हुए कहा कि 'हरियाणा के सीएम, खट्टर की कश्मीरी महिलाओं पर टिप्पणी घृणित करने वाली है और यह दर्शाता है कि वर्षों तक आरएसएस का प्रशिक्षण लेने के बाद एक कमजोर आदमी असुरक्षित और दयनीय स्थिति में क्या-क्या करता है। महिलाएं पुरुषों के स्वामित्व वाली संपत्ति नहीं हैं।'

अन्य नेताओं और राहुल गांधी से मिली आलोचना के बाद मनोहर खट्टर खुद अपनी सफाई देने आ गए और ट्वीट करते हुए उन्होंने उस समारोह का पूरा वीडियो शेयर किया। जिसे सुनकर लोग उनकी आलोचना कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रिय राहुल गांधी जी, कम से कम आपको इस तरह की गलत ख़बरों पर अपनी प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए। मैंने जो कुछ भी उस समारोह में कहा है उसका वीडियो संलग्न कर रहा हूं, और किस संदर्भ में कहा था यह भी आप देख कर जान सकते हैं।

आप भी जान लीजिये उन्होंने क्या कहा था -

हमलोगों ने इतनी योजनाएं बनाई हैं, बेटी पढ़ाव-बेटी बचाव। आपको बता है हरियाणा का नाम बदमान था कि बेटियों को मारने वाला प्रदेश है। लेकिन हमने अभियान चलाया जो लिंगानुपात में लड़कियों की संख्या 1000 लड़कों में 850 थी, अब 1000 लड़कों के पीछे वही लड़कियों की संख्या 933 हो गई है। मित्रों 933 ,,,, 850 से 933 हो गई है। ये एक बहुत बड़ा काम है समाज में परिवर्तन का काम है। आखिर बुजुर्ग लोग नौजवान लोग कोई भी व्यक्ति इस बात को समझेगा कि आने वाले समय में ये संकट खड़ा हो सकता है कि लड़कियां कम और लड़के ज्यादा हो जाये। तो हमारे धनखड़ जी ने कहा था कि बिहार से लानी पड़ेगी। अब कुछ लोग कह रहे हैं कश्मीर खुल गया है वहां से लेकर आएंगे। 'मजाक' की बात अलग है। लेकिन समाज में रेश्यो ठीक हो तो संतुलन ठीक बैठेगा।

मुख्यमंत्री के इस बयान से काफी लोग नाजाज हैं। उनकी आलोचना कर रहे हैं और कह रहे हैं की उन्होंने कश्मीर और बिहार की महिलाओं का अपमान किया। खैर मुख्यमंत्री जी का यह बयान आपत्तिजनक है या नहीं आप खुद ही पढ़ कर सोचिए।