उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 Cafe Coffee Day (CCD) owner V.G.Siddhartha 
Cafe Coffee Day (CCD) owner V.G.Siddhartha |Social Media
टॉप न्यूज़

नदी में कूदने से पहले CCD के मालिक ने लिखा था अंतिम पत्र कहा- मैं विफल रहा, मुझे माफ़ कर देना 

CCD के मालिक वीजी सिद्धार्थ का अंतिम पत्र मिला

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

देश के सबसे बड़े कॉफी हॉउस चेन कैफे कॉफी डे (Cafe Coffee Day) ग्रुप के संस्थापक वी जी सिद्धार्थ सोमवार रात से लापता है। इसी बीच उनके आत्महत्या करने को लेकर भी कयास लगाए जा रहे हैं। समाचार एजेंसी ANI के अनुसार सिद्धार्थ बिज़नेस ट्रिप के बहाने घर से निकले थे और उन्हें आखिरी बार मंगलुरु के नेत्रावती नदी के पास देखा गया था। बताया जा रहा है कि सिद्धार्थ ने नेत्रावती नदी में छलांग लगाई है, हालांकि पुलिस तैराकों की मदद लेकर नदी में तलाश अभियान जारी है लेकिन पुलिस को अब तक कोई सुरा हाथ नहीं लगा है।

इसी बीच वी जी सिद्धार्थ का आखिर खत हमें मिला है, जो पुलिस द्वारा बताए जा रहे घटनाक्रम की थ्योरी (आत्महत्या) को सही साबित करता नज़र आ रहा है। सिद्धार्थ का यह आखिरी खत CCD के कर्मचारी, डायरेक्टर और शेयर होल्डर्स के लिए हैं जिसमें उन्होंने लिखा है कि -

Letter
Letter
Social Media

CCD के बोर्ड मेंबर और परिवार,

37 वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद हमने आज यह मुकाम हासिल किया है। हमने इस कंपनी के जरिये 30,000 लोगों को नौकरी दी है। मैं इस कंपनी की स्थापना के बाद से ही इसका एक बड़ा शेयर होल्डर रहा हुँ। मैंने इस कंपनी को सफलता पूर्वक चलाने के सारे प्रयास किये लेकिन मैं असफल हो गया।

मैंने बहुत संघर्ष किया, लेकिन कंपनी के कुछ शेयर होल्डर मुझपर लगातार दबाव बना रहे हैं और मैं उस दबाव को बर्दाश्त नहीं कर सकता। शेयर होल्डर मुझे कंपनी के उन शायरों को बायबैक करने का दबाव बना रहे हैं, जो मेरे लिए बहुत मुश्किल है, मैंने 6 महीने पहले ही एक दोस्त से मदद लेकर कुछ पूंजी इकट्ठा करने के लिए यह ट्रांजैक्शन किया था।

सिद्धार्थ ने इस खत के जरिए CCD के शेयर होल्डरों से माफ़ी मांगी है और सरेंडर करने की बात कही है।

सिद्धार्थ ने CCD के कर्मचारियों से निवेदन करते हुए कहा कि "मेरा आप सभी से निवेदन है कि आप मजबूती से डटे रहे और नए मैनेजमेंट के साथ कंपनी को आगे बढ़ाये। मैं सभी गलतियों के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार हूं। कंपनी का हर वित्तीय लेनदेन मेरी जिम्मेदारी है, कंपनी के वरिष्ठ प्रबंधन, और मेरी टीम इस लेन-देन से पूरी तरह अनजान है। क़ानूनी तौर पर कंपनी के इस घाटे के लिए मैं जिम्मेदार हूं।

मेरा इरादा कभी किसी को धोखा देने या गुमराह करने का नहीं था। मैं एक बिज़नेसमैन के रूप में असफल रहा। मुझे आशा है कि किसी दिन आप मुझे समझेंगे, और क्षमा करेंगे।

आपका

वी जी सिद्धार्थ

कंपनी के घाटे से परेशान से सिद्धार्थ

पुलिस नदी में नावों के जरिए सिद्धार्थ की खोज कर रही है। उनके कॉल डिटेल्स निकाले जा रहे हैं और उनसभी लोगों का पता लगाया जा रहा है जिन्होंने सिद्धार्थ को आत्महत्या के लिए मजबूर किया है। खबर मिली है कि सोमवार को CCD के शेयर में गिरावट आई थी और सिद्धार्थ इससे परेशान थे उन्होंने इस कंपनी में काफी पैसा इन्वेस्ट किया है और इस कारण उन्होंने यह कदम उठाया।