उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Karnataka BJP leader B S Yeddyurappa
Karnataka BJP leader B S Yeddyurappa|Social Media
टॉप न्यूज़

कर्नाटक में खिलने वाला है ‘कमल’, आख़िरकार मुख्यमंत्री बन गए येदियुरप्पा

नाम की वर्तनी बदलकर ‘येदियुरप्पा’ मुख्यमंत्री पद की दावेदारी पेश करेंगे। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कर्नाटक के प्रमुख भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा आख़िरकार आज एक बार फिर कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे और आज शाम 7 बजे येदियुरप्पा राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे । बताया जा रहा है कि येदियुरप्पा 31 जुलाई को विधान सभा में फ्लोर टेस्ट देंगे। जहां उन्हें बहुमत साबित करना होगी।

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पहले बीएस येदियुरप्पा कारगिल युद्ध में शहीद हुए जवानों को नमन करने बेंगलुरु पहुंचे। जहां उन्होंने शहीदों पर फूल-माला चढ़ाया और उनको नमन किया। जिसके बाद वो बीजेपी ऑफिस जाएगें और BJP के विधायकों को संबोधित करेंगे।

पार्टी विधायकों को संबोधित करने से पहले येदियुरप्पा ने कांग्रेस के बागी विधायकों कहा है कि अगर वो बीजेपी में शामिल होना चाहते हैं तो उनका स्वागत है।

कर्नाटक से बीजेपी सांसद शोभा करंदलजे ने कहा है कि “येदियुरप्पा जी आज सरकार बनाने जा रहे हैं। पार्टी हाईकमान उनके साथ ,उन्हें विधानसभा में बहुमत हासिल करने में कोई दिक्कत भी नहीं होगी।”

बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी येदियुरप्पा को सरकार बनाने के लिए शुभकामना दी है।

वहीं कर्नाटक कांग्रेस, बीजेपी और येदियुरप्पा पर आरोप लगाते हुए कह रही कि 'बी.एस. येदियुरप्पा ने विधायकों की खरीद फरोख्त करने के बाद लोकतंत्र को पलटा और सत्ता में आ गए।

कर्नाटक के कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने ट्विटर के माध्यम से बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि "बीजेपी के पास बहुमत नहीं है फिर भी सरकार बनाने जा रही हैं।”

कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडूराव ने येदियुरप्पा पर आरोप लगाते हुए कहा है कि "येदियुरप्पा का मुख्यमंत्री बनना असंवैधानिक है। वो होर्स ट्रेडिंग के दम पर सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं। हम उनके शपथ ग्रहण का बहिष्कार करते हैं।”

कांग्रेस के इस आरोप पर बीजेपी ने पलटवार करते हुए कहा है कि 'कांग्रेस को लोकतंत्र का सम्मान करना चाहिए और इस शपथ ग्रहण में शामिल होना चाहिए।’ बीजेपी ने यह भी कहा है कि जब तक बहुमत सिद्ध नहीं होता, मत्रियों को विधानसभा शपथ नहीं दिलाई जाएगी।