उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
शीला दीक्षित का निधन  
शीला दीक्षित का निधन  |Social Media
टॉप न्यूज़

दिल्लीवासियों की प्यारी दादी शीला दीक्षित का 81 वर्ष की उम्र में निधन

अचानक चली गईं शीला दीक्षित

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कांग्रेस पार्टी की कद्द्वार नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का आज 81 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि वह लंबे समय से बीमार चल रही थी। उन्हें शुक्रवार सुबह सीने में जकड़न की शिकायत हुई जिसके बाद उन्हें दिल्ली के एस्कार्ट्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। और आज अचानक उनका देहांत हो गया। शीला दीक्षित 15 वर्ष तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। भारत की राजधानी को वर्तमान और आधुनिक दिल्ली बनाने में शीला दीक्षित का अहम योगदान रहा है। शीला दीक्षित के निधन के बाद देश के तमाम नेताओं ने ट्वीट करके उन्हें श्रद्धांजलि दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि -

शीला दीक्षित जी के निधन से गहरा दुख पहुंचा है। एक तेज और मिलनसार व्यक्तित्व की मालकिन थी शीला जी, उन्होंने दिल्ली के विकास में उल्लेखनीय योगदान दिया। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना। ॐ शांति।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि - "मैं शीला दीक्षित जी के निधन के बारे में सुनकर बहुत दुखी हूं। वह कांग्रेस पार्टी की प्रिय बेटी थीं जिनके साथ मेरा नजदीकी रिश्ता रहा।' उन्होंने कहा, 'दुख की इस घड़ी में उनके परिवार और दिल्ली के निवासियों के प्रति मेरी संवेदनाएं है। उन्होंने दिल्ली के निवासियों की तीन बार मुख्यमंत्री रहते हुए निःस्वार्थ भाव से सेवा की।"

बीजेपी नेता मनोज तिवारी ने शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि - मैं अभी हाल ही में उनसे मिला था। उनके मौत की खबर से मुझे गहरा झटका लगा है। वो मेरे लिए माँ के समान थी। दिल्ली के लोग और हम सब उन्हें हमेशा याद रखेंगे।

उप राष्ट्रपति ने श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि- दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ नेता श्रीमती शीला दीक्षित जी के असामयिक निधन पर शोक व्यक्त करता हूं। शीला जी सफल और लोकप्रिय नेता थीं जिनके लिए सभी के हृदय में आदर था।

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री ने लिखा कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और काँग्रेस की वरिष्ठ नेत्री श्रीमती शीला दीक्षित जी के आकस्मिक निधन की अत्यंत दुखद सूचना प्राप्त हुई। भगवान उनकी आत्मा को शांति एवं परिवार व शुभचिंतकों को संबल प्रदान करें। ॐ शांति ॐ

पूर्व प्रधानमंत्री ने भी शोक जाहिर की।

शीला दीक्षित 1998 से 2013 के बीच 15 वर्षो तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं।