उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
<em>Bebru</em>, <em>Banda</em> UP
Bebru, Banda UP|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

कागजो में खर्च हुआ करोड़ो, जमीन पर शिफर

बंदरबांट की ये तश्वीरें सिर्फ उत्तर प्रदेश में ही नजर आएगी 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

सरकारी पैसे जो कि आम आदमी की जेब से निकाला जाता है , उस पैसे के खर्च की उम्मीद ऐसे स्तर पर की जाती है जिस से नागरिकों का जीवन थोड़ा बहुत सुखमय बने, लेकिन असलियत दरअसल बेहद अलग है, यहाँ पर पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी जी का महशूर कथन थोड़ा बदल कर याद किया जा सकता है जिसकी लाइनें कुछ इस प्रकार होगी " सरकारे आती रहेंगी, जाती रहेगी, बस भृष्टाचार जिंदा रहना चाहिए"

बुंदेलखंड वैसे भी किसानों के लिए नर्क जैसा साबित होता है, और सरकारी अमला इस नर्क को बद से बदतर करने पर तुला हुआ है,

<em>Bebru</em>, <em>Banda</em> UP
Bebru, Banda UP
Uday Bulletin

मामला बाँदा जिले के बबेरू कस्बे के है जहां बाँदा तिंदवारी रोड पर पड़ने वाली नहर अपने दुर्दशा पर आँसू बहाती नजर आएगी, जहां कागजो पर संबंधित अधिकारियों  ने लाखों रुपये खर्च करके सिल्ट हटाई, साफ कराई का पैसा तो निर्गत किया लेकिन सफाई के नाम पर हुई लूट मार आप अपनी आँखों से देख सकते है, लघु सिंचाई विभाग वैसे भी अपनी हीलाहवाली और फर्जीवाड़े के लिए मशहूर है, लेकिन अब तो बिना काम कराए ही पैसा आराम से डकार लिया जा रहा है।

बरसात चालू जरूर है लेकिन पानी आसमान से गिरने का नाम ही नही ले रहा ऐसी स्थिति में केवल नहर ही किसानों के लिए एक आशा होती है , लेकिन सरकारी अमले ने इस उम्मीद का भी गला रूंध रखा है, जिस कारण से पानी सही तरीके से किसानों तक पहुचेगा कैसे।

<em>Bebru</em>, <em>Banda</em> UP
Bebru, Banda UP
Uday Bulletin

ये तश्वीरें सिर्फ बबेरू कस्बे मात्र की है , लेकिन यह वाकया सिर्फ बाँदा जिले तक सीमित नही है, समूचे उत्तर प्रदेश में यही स्थिति अपने शबाब पर है, आखिर सरकारी पैसा होता ही मस्ती और फर्जी खर्च के लिए है।