उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
गंदा पानी 
गंदा पानी |Social Media
टॉप न्यूज़

Delhi Water Crisis: जो प्यास से ना मरे ,वो पानी से मर जाए

जिस पानी से आप नहाएंगे भी नहीं वह पानी पीने को मजबूर दिल्लीवासी 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

पानी इस दुनिया का सबसे कीमती पदार्थ है। भले ही पिछले कुछ समय में इसकी किसी ने कदर न की हो, लेकिन अब समय बदल रहा है, लोगों के दिमाग में पानी को लेकर भविष्य में होने वाली विभीषिका की शंका ने जन्म ले लिया है।

कभी समुद्र किनारे बसा शहर चेन्नई पानी की बूंद बूंद के लिए तरस जाता है तो कभी बुंदेलखंड जैसे क्षेत्र में पानी के लिए फौजदारी जैसी घटना को अंजाम दिया जाता है। वहीं पानी जब सही मात्रा में इंसान को मिल जाता है तो वो अमृत के समान हो जाता है, लेकिन अगर पानी ही सही ना हो तो इसे जहर से कमतर नहीं माना जाता।

यही वाकया दिल्ली वासियों के साथ हुआ है, जहां एक ओर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जनता को मुफ्त पानी की बात कहकर वाहवाही लूटे जा रहे है,और हर मौके पर अपनी पीठ थपथपाने से नहीं चूकते, लेकिन पुरानी दिल्ली में तीन दिन तक पानी न आने से लोगों को बड़ी समस्या हुई।

आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा का ट्वीट

पानी के ना आने से कालाबाजारी अपने चरम पर थी, टैंकर माफियाओं ने अपने पौ बारह किये। एक-एक टैंकर 4000-4000 तक का हांथो हाँथ बिक गया। लेकिन सरकार कानो में तेल डाल कर सोती रही, खैर देर तो आये लेकिन दुरस्त बिल्कुल नहीं आये।

तीन दिन बाद नलों ने पानी की आहट सुनाई, पानी आया भी लेकिन इस पानी का रंग बिल्कुल बदला हुआ सा लगा, कभी किसी नल से काला , किसी से पीला ,और किसी से हरा, मानो किसी ने फिल्टर प्लांट के किनारे होली मचा दी हो।

बेहद काले और अजीब प्रकार के पानी को लेकर लोगों ने मुख्यमंत्री के ऊपर आरोप लगाने शुरू कर दिए कि महोदय फ्री में मत दो लेकिन पीने लायक पानी तो दो।

गंदा पानी 
गंदा पानी 
Social Media

डॉक्टरों के अनुसार अगर इस पानी को कोई एक बार ही पी ले तो डायरिया से मर जाये। आज के समय मे पानी जीवन की आधारभूत चीज है जिसका साफ मिलना एक अधिकार के तौर पर देखा जाना चाहिए। स्थानीय निवासियों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया कि उन्हें केंद्र सरकार औऱ मोदी पर आरोप लगाने से फुर्सत मिले तभी वो जनता की समस्याओं पर निगाहे कर पाए।