उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
मिथराज हास्पिटल
मिथराज हास्पिटल |Social Media
टॉप न्यूज़

डॉक्टर बना मौत का सौदागर, पेट की आंत निकाल कर डस्टबिन में फेंकी

घटनास्थल पर पहुंचकर पुलिस ने कूड़ेदान में मिली आंतों को सील कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।  

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

डॉक्टर समाज का दूसरा देवता माना जाता है। जिसके रहमों करम से बिस्तर पर लेटा हुआ असाध्य मरीज भी चलने लगता है। मौत के मुंह में जाता हुआ व्यक्ति सिर्फ डाक्टर के एहसान से जन्दगी का स्वाद दोबारा चखता है। लेकिन कभी-कभी ऐसे उदाहरण सामने आ जाते है जिसकी वजह से समाज का भरोसा समाज के इस जिम्मेदार अंग से हट जाता है।

ऐसी ही एक घटना अलीगढ़ में हुई है। जिसने सबको सन्न कर दिया है और यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि जब डाक्टर ही हैवान बन जायेगा तो मौत को मेहनत करने की जरूरत ही नहीं है।

अलीगढ़ में रामघाट रोड पर स्थित मिथराज अस्पताल में डाक्टर ने दरिंदगी का वह नमूना पेश कर दिया है जिस से सब चिंता में है।

हुआ ये की डॉक्टर साहब पेशेंट का ऑपरेशन ओटी में कर रहे थे, और बीच ऑपरेशन में वहां से निकलकर पेशेंट के परिजनों के पास गए वहां पेशेंट के पिता जी को बुलाकर ऑपरेशन थियेटर ले जाकर मरीज का हाल दिखाया, मरीज की आंत उसके शरीर से बाहर कटी हुई पड़ी थी और कहा कि डेढ़ लाख रुपये का तुरंत इंतजाम कराओ, नहीं तो इस बच्चे को मरा समझो। इससे पहले इलाज में करीब चार लाख रुपये लग चुके थे।

जब पिता ने पैसे देने में असमर्थता जताई तो डॉक्टर ने मरीज की आंत टेबल से उठाकर कूड़ेदान में फेंक दी और इसी कारण से मरीज की मौत हो गई। मृतक के पिता के अनुसार डॉक्टर ने यह सब ढोंग सिर्फ मृतक के परिजनों पर दबाव बनांने और पैसे ऐंठने के लिए किया था।

मरीज की घटनास्थल पर ही मौत होने के बाद बेबस पिता ने बेटे की आंत को कूड़ेदान से बटोरकर पुलिस के सुपुर्द की और शिकायत लिखाई, अस्पताल में इस घटना को लेकर अफरातफरी का माहौल रहा। पुलिस ने मामले की संगीनता को लेते हुए शिकायत दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।