उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Pan Card
Pan Card|Social Media
टॉप न्यूज़

सावधान ! 20 करोड़ पैन कार्ड रद्द करने वाली है सरकार, कही आपका नाम भी तो लिस्ट में नहीं

22 करोड़ पैन कार्ड रद्द करेगी सरकार 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

खास बात

  • देश में 43 करोड़ लोगों के पास पैन कार्ड है ।
  • सरकार ने 31 अगस्त 2019 तक पैन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़ने का समय दिया है।
  • पैन कार्ड होने के बाद भी आयकर नहीं भरते लोग ।
  • पैन कार्ड का इस्तेमाल लोग डेबिट और क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए करते है ।

वित्त मंत्रालय द्वारा निर्धारित किए गए नए नियमों के तहत 31 अगस्त 2019 तक किसी व्यक्ति, कंपनी, ट्रस्ट या किसी भी श्रेणी में जारी किये गए हर उस पैन कार्ड को आधारहीन कर दिया जायेगा जिसे आधार कार्ड से नहीं जोड़ा गया हो। उन सभी पैन कार्ड को सरकार अमान्य घोषित कर देगी। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अभी देश भर में 20 करोड़ ऐसे पैन कार्ड की संख्या है जिसे सरकार रद्द करने वाली है।

आयकर विभाग द्वारा जारी किए गए रिपोर्ट में कहा गया है कि 20 करोड़ पैन कार्ड रद्द किए जाने के बाद लोग इसका इस्तेमाल नहीं कर सकेगें। वित्त मंत्रालय के प्रवक्ता अनुसार अभी देश की जनसंख्या 120 करोड़ है । जिसमें 43 करोड़ लोगों के पास पैन कार्ड है और उसमें से भी 20 करोड़ लोगों ने अपना आधार और पैन कार्ड लिंक नहीं किया है। ऐसा हो ही नहीं सकता कि उन 20 करोड़ लोगों के पास आधार कार्ड ना हो

वित्त मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा अगर 20 करोड़ लोगों के पास अगर आधार कार्ड नहीं है तो भी अभी उनके पास 40 दिन का समय है । उन्हें आधार संख्या आसानी से मिल सकती है ।

इन लोगों को होगा नुकसान

वित्त मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार नए नियम से उनलोगों को नुकसान होगा जिन्होंने अपना पैन कार्ड तो बना लिया है लेकिन अब तक आयकर रिटर्न नहीं भरा है। या फिर उन लोगों को जिन्होंने पैन कार्ड लोन लेने और क्रेडिट कार्ड लेने के लिए बनाया है।

क्या है कानून

वित्त मंत्रालय के अनुसार यह नियम आयकर कानून की धारा 139AA में एक उपधारा जोड़कर प्रवधान को पारित किया गया है । जिसके तहत अगर किसी व्यक्ति ने अपना पैन कार्ड आधार कार्ड से नहीं जोड़ा हो तो 1 सितम्बर से उसका पैन कार्ड रद्द हो जाएगा।

22 करोड़ पैन कार्ड आधार से जुड़े

वित्त मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार, इस समय करीब 22 करोड़ पैन कार्ड आधार कार्ड से जुड़े हैं। वहीं आयकर ने अब तक 43 करोड़ जारी किये हैं। इसका मतलब ये हैं की सरकार 22 करोड़ पैन कार्ड रद्द करने वाली है।