उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
आकाश विजयवर्गीय मामले पर बोले पीएम मोदी 
आकाश विजयवर्गीय मामले पर बोले पीएम मोदी |Social Media
टॉप न्यूज़

आकाश विजयवर्गीय पर पीएम मोदी का बड़ा बयान, कार्रवाई में क्यों हुई देरी, अब पार्टी से निकाले जा सकते हैं ?

पीएम बोले - ‘ऐसे लोगों को पार्टी से निकाल देना चाहिए’ 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

मध्य प्रदेश के इंदौर में नगर निगम अधिकारी को बल्ले से पीटने वाले बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय के मामले पर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी चुप्पी तोड़ दी है। भारतीय जनता पार्टी संसदीय दल की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने आकाश पर नाराजगी जताई और बिना उनका नाम लिए कहा कि 'ऐसे लोगों को पार्टी से निकाल देना चाहिए, ऐसा व्यवहार बर्दाश्त नहीं है, चाहे बेटा किसी का भी हो।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब बीजेपी का प्रदेश संगठन बल्लामार विधायक आकाश विजयवर्गीय को हीरो बना कर जनता के सामने पेश कर रहा है। उनके जेल से छूटने के बाद शोभा यात्रा निकाली गई थी। उनके समर्थन में जगह-जगह पर पोस्टर लगाए गए थे।  

अपने बयान में प्रधानमंत्री मोदी ने उन सभी बीजेपी नेताओं को खरी-खोटी सुनाई है जिन्होंने आकाश को हीरो की तरह पेश किया। उनके समर्थन में नारे लगाए। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पार्टी उन सभी नेताओं पर एक्शन लेना वाली है। जिन्होंने इस व्यवहार का समर्थन किया है। इन सभी लोगों को पार्टी से निकाल देना चाहिए। इन्हें पार्टी में रहने का कोई हक़ नहीं है।

संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अगर पार्टी के नेता इस तरह का बुरा बर्ताव करेंगे तो पार्टी की छवि ख़राब होगी। इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। किसी एक की गलती होने पर भी पार्टी सबके लिए एक्शन लेगी, सभी पर समान नियम लागू होते हैं। अगर कोई कुछ गलती करता है तो उसे पार्टी से बाहर किया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान के बाद इतना तो साफ़ है कि भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री मोदी आकाश विजयवर्गीय की गलती को माफ़ नहीं करने वाले हैं। लेकिन उन्हें पार्टी से बाहर निकाला जाएगा या फिर एक और मौका दिया जायेगा ये तो समय के साथ साफ़ होगा। वैसे इससे पहले भी नेताओं के बयान और बर्ताव पर प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह खुल कर बोलते रहे हैं। भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा के विवादित बयान पर पीएम मोदी ने कहा था कि मैं उन्हें कभी माफ़ नहीं करूंगा।

आपको बता दें कि आकाश विजयवर्गीय मामले पर प्रधानमंत्री मोदी से पहले गृह मंत्री अमित शाह ने टिप्पणी जाहिर की थी। उन्होंने इस मामले से जुड़े सभी रिपोर्ट मांगे थे और कार्रवाई की बात कही थी। वहीं आकाश विजयवर्गीय के पिता कैलाश विजयवर्गीय ने इस मामले में मीडिया से बात करते हुए कहा था कि-

'सरकारी कर्मचारियों को विधायक के सामने अहंकार नहीं दिखाना चाहिए। इस मामले में दोनों की गलती है। दोनों को समझना चाहिए था। आकाश कच्चे खिलाड़ी हैं। वैसे इस बात को बड़ा बनाया जा रहा है। इसमें कुछ नहीं है।’

क्या है आकाश विजयवर्गीय का मामला ?

दरअसल इंदौर के गंजी कंपाउंड में नगर निगम के अधिकारी एक जर्जर मकान को गिराने गए थे। जिसका वहां के स्थानीय लोग विरोध कर रहे थे। जैसे ही विधायक आकाश को इस मामले की जानकारी मिली आकाश गंजी कंपाउंड पहुंचे और निगम अधिकारीयों की बल्ले से पिटाई करने लगे। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। हालांकि बीते रविवार को उन्हें रिहा कर दिया गया था। जिसके बाद इंदौर में उनका भव्य स्वागत हुआ। जेल से छूटने के बाद आकाश ने कहा था कि अगर मुझे दोबारा मौका मिले तो मैं फिर से बल्ला चलाऊंगा।