उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
प्रधानमंत्री  मोदी के साथ सनी देओल  
प्रधानमंत्री मोदी के साथ सनी देओल  |Social Media
टॉप न्यूज़

गुरदासपुर सांसद सनी देओल के लेटर पर बवाल, अब दे रहे हैं सफाई 

अभिनेता ने राजनेता बने सनी देओल विवाद में 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

2019 के लोकसभा चुनाव में जीत कर अभिनेता ने राजनेता बने सनी देओल विवाद में आ गए हैं। उनपर आरोप है कि उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र में जो "जन प्रतिनिधि" नियुक्त किया है वो गैर-राजनीतिक है। स्थानीय बीजेपी संगठन भी इस नियुक्ति से खुश नहीं है। दरअसल सनी देओल पंजाब के गुरदासपुर से नवनिर्वाचित भाजपा सांसद हैं। उन्होंने एक स्क्रीन राइटर को अपना "जन प्रतिनिधि" नियुक्त किया है।

क्या है मामला ?

गुरदासपुर के सांसद सनी देओल ने अपने ऑफिसियल लेटर हेड में एक बयान जारी किया है। जिसमें लिखा गया है कि स्क्रीन राइटर गुरप्रीत सिंह पल्हरी गुरदासपुर में सनी देओल के प्रतिनिधि होंगे। सनी देओल की अनुपस्थिति में गुरप्रीत सिंह पल्हरी उनके लोकसभा सीट से जुड़े मामलों पर नज़र रखेंगे। इसके साथ ही सनी देओल ने राज्य के अधिकारियों को पत्र लिखकर इस बात की जानकारी दी।

जिसके बाद पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी ने सनी देओल के इस कदम को मतदाताओं के जनादेश का "धोखा" बताया है । कांग्रेस सनी देओल पर इस मामले को लेकर लगातार हमला कर रही है।

इस विवाद को तूल पकड़ता देख कर सनी देओल ने ट्विटर पर अपनी सफाई दी है। सनी देओल ने ट्विटर पर लिखा कि "इस मामले को विवाद बनाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है और इसे फिजूल में बड़ा बनाया जा रहा है। मैंने तो बस अपना PA नियुक्त किया है। जो गुरदासपुर में मेरे ऑफिस में मेरा प्रतिनिधि होगा। मैंने यह नियुक्ती इसलिए की है कि जब मैं बाहर रहूं तो वो मुझसे संपर्क में रहे। गुरदासपुर का काम नहीं रुकना चाहिए”। लगातार विकास होना चाहिए।

सनी देओल ने कहा है कि "मैं भारतीय जनता पार्टी का एक निष्ठावान प्रतिनिधि हूँ , जो विकास का कोई भी काम बिना रुके बिना देरी के करना चाहता है। हमारी पूरी पार्टी मेरे साथ है। सांसद के तौर पर मैं गुरदासपुर के लिए जिम्मेदार हूं। मैं हर संभव तरीके से गुरदासपुर की सेवा करूंगा।”