उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो प्रधाममंत्री मोदी से मिले 
अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो प्रधाममंत्री मोदी से मिले |Social Media
टॉप न्यूज़

पीएम नरेंद्र मोदी से मिले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो, इन मुद्दों पर होगी बातचीत 

तीन दिवसीय यात्रा पर दिल्ली पहुंचे अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो

Uday Bulletin

Uday Bulletin

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल में पहली बार अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो दिल्ली पहुंचे हैं। माइक पोंपियो भारत की तीन दिवसीय यात्रा पर मंगलवार की रात ही दिल्ली पहुंच गए थे और आज बुधवार को उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद पोंपियो केंद्रीय विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर से भी मिलेंगे और दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों को और भी मजबूत करने पर चर्चा करेंगे।

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो का स्वागत करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री और पोंपियो के बीच इन मुद्दों पर होगी बातचीत

दोनों देशों के बीच होने वाली इस खास बातचीत में भारत और अमेरिका के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद होंगे। प्रधानमंत्री मंत्री के साथ टॉप ब्यूरोक्रेट्स और मंत्री भी इस बैठक में हिस्सा लेंगे। माइक पोंपियो की इस यात्रा का प्रमुख उद्देश्य दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंधों को मजबूत करना है। अमेरिका-भारत की कूटनीति साझेदारी पर चर्चा करना तथा दोनों देशों के भविष्य के संबंधों पर और वैश्विक मुद्दों पर सहयोग के अवसरों पर चर्चा करना है।

प्रधानमंत्री के साथ इस बैठक में नेशनल सेक्यॉरिटी एडवाइजर अजीत डोभाल भी मौजूद थे।

H-1 वीजा पर भी होगी बातचीत

सूत्रों द्वारा बताया जा रहा है कि भारत और अमेरिका के बीच H-1 वीजा पर भी बातचीत हो सकती है। अमेरिका ने H-1 वीजा पर पिछले दिनों कुछ बदलाव किये थे , वहीं भारत चाहता है कि H-1 वीजा के नियमों में भारत की जरूरतों और मांगों को भी शामिल किया जाए।

बताया जा रहा है कि दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच हो रही यह बैठक बेहद अहम है। भारत अमेरिका के साथ हथियार की खरीद को लेकर भी बातचीत कर सकता है। दरअसल भारत रूस से हथियार खरीदता आ रहा है और लंबे समय से अमेरिका इसपर प्रतिबंध की चेतावनी दे चुका है।

विदेश मंत्री बनने के बाद सुब्रह्मण्यम जयशंकर की पहली बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल में विदेश मंत्री बने सुब्रह्मण्यम जयशंकर की यह पहली बैठक है। जहां वो भारत और अमेरिका के बीच कूटनीति साझेदारी पर बातचीत करेंगे।