पीएम मोदी
पीएम मोदी|Twitter
टॉप न्यूज़

Live SCO समिट में भारत:  दुनिया के मंच से पीएम मोदी का पाकिस्तान प्रहार 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

SCO समिट में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय यात्रा पर बिश्केक पहुंचे हैं। इस दौरान उन्होंने आठ देशों के शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के शिखर सम्मेलन में भाग लिया। प्रधानमंत्री मोदी ने इस समिट में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ द्विपक्षीय वार्ता की है। और आज वह ईरान के राष्ट्रपति डॉ. हसन रूहानी से मुलाकात करेंगे। जिसके बाद प्रधानमंत्र की अगली मुलाकात कजाकिस्तान के राष्ट्रपति से भी होगी। इस मुलाकात के बाद वह SCO की एक गोपनीय बैठक में शामिल होंगे। और आज रात को ही वह भारत के लिए रवाना हो जाएंगे।

SCO समिट में पीएम मोदी का भाषण

SCO समिट में प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किर्गिस्तान के बिश्केक में चल रहे SCO समिट को संबोधन किया। जहां प्रधानमंत्री मोदी ने आतंकवाद को निशाना बनाया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा -

  • समाज को आतंकवाद मुक्त करने की जरुरत है
  • आतंक का साथ देने वाले देश जिम्मेवार है
  • श्रीलंका ने आतंकवाद का घिनौना रूप देखा है।
  • आतंकवाद के खिलाफ एकजुद होना होगा।
  • आतंकवाद से सभी देश साथ मिलकर लड़े।
  • सभी मानववादी ताकत एक होकर आतंकवाद के खिलाफ लड़े।
  • SCO के देशों को आतंकवाद के खिलाफ साथ आकर लड़ना चाहिए। भारत सभी SCO देश का आवाह्न करता है।

SCO सदस्य देशों के नेता किर्गिस्तान के बिश्केक में शिखर सम्मेलन में संयुक्त तस्वीर के लिए जमा होते हुए।

आज प्रधानमंत्री मोदी ईरान के राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे

SCO समिट के लिए किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी शुक्रवार को ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी से मुलाकात करेंगे। वह किर्गिस्तान के राष्ट्रपति से भी मुलाकात करेंगे।

SCO समिट में पीएम मोदी

मोदी सितंबर में रूस का दौरा करेंगे

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सितंबर की शुरुआत में ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम की बैठक में मुख्य अतिथि होंगे और भारत-रूस वार्षिक द्विपक्षीय शिखर बैठक के हिस्से के रूप में राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ चर्चा करेंगे।

मोदी ने गुरुवार को यहां एससीओ शिखर बैठक से अलग पुतिन के साथ द्विपक्षीय बातचीत की और दोनों नेताओं ने कहा कि विश्वास पर आधारित पुराने रिश्ते को और मजबूत बनाने की जरूरत है।

मोदी ने कहा, आतंकवाद के खिलाफ ठोस कदम उठाए पाकिस्तान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच गुरुवार को यहां द्विपक्षीय वार्ता के दौरान आतंकवाद का मुद्दा उठा। प्रधानमंत्री ने चीनी राष्ट्रपति से कहा कि उनके देश के हर वक्त साथी पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ ठोस कदम उठाने चाहिए।

मोदी ने शी से कहा कि भारत ने पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ ठोस कदम उठाने के प्रस्ताव दिए हैं, जोकि शांतिपूर्ण द्विपक्षीय संबंध विकसित करने की कोशिश की दिशा में है। लेकिन पश्चिमी सीमा पर स्थित पड़ोसी ने इस कोशिश को नाकाम कर दिया।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के सरगना मसूद अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित करने की राह में करीब 10 साल से बाधक बनी तकनीकी रोक को चीन ने एक मई को हटा ली थी, जिसके बाद पहली बार मोदी और शी के बीच मुलाकात के दौरान यह मुद्दा उठा। हालांकि उन्होंने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान से कोई बातचीत नहीं की है। बल्कि उन्होंने चीन के जरिये पाकिस्तान को नसीहत दी है।

रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन से पीएम मोदी की मुलाकात

कल पीएम मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन से मुलाकात की थी। दोनों नेताओं ने रणनीतिक संबंधों को मजबूत करने के लिए द्विपक्षीय रिश्तों के सभी पहलुओं की समीक्षा की।दोनों नेताओं की बातचीत में रक्षा और ऊर्जा के विषयों पर विशेष ध्यान दिया गया।

भारत-चीन व्यापार असंतुलन : शी ने किया नियमों का सरल बनाने का वादा

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि व्यापार असंतुलन को ठीक करने के लिए चीन ने भारत से कुछ वस्तुएं आयात करने के लिए नियमों को सरल बनाया है। उन्होंने कहा कि वह आगे नियमों को और सरल बनाने की दिशा में कदम उठाएंगे।

यह बात भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने यहां बताई। वह मोदी और शी के बीच द्विपक्षीय वार्ता के बाद मीडिया को इसकी जानकारी दे रहे थे।

मोदी ने शी को इस साल भारत में अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए आमंत्रित किया। शी ने आमंत्रण स्वीकार करते हुए कहा कि वह रिश्तों को मजबूत बनाने के लिए आगे दौरा करने का इंतजार कर रहे हैं।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com