बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े 
बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े |Google
टॉप न्यूज़

पहले दिया विवादित बयान, विवाद बढ़ने पर बीजेपी नेता बोले मेरा ट्विटर हैक हुआ था 

बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े का ट्विटर अकाउंट हैक। 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर सियासी महकमें में विवादित बयानों को लेकर हलचल जारी है। राजनेताओं के बीच बयानों को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चरम पर हैं। सभी राजनेता अपनी तरफ से हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं किसी तरह वोटरों को लुभा सके। अभिनेता से राजनेता बने कमल हसन जब चुनावी रण में पहुंचे तो उन्होंने कहा कि

"महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे आजाद भारत का पहला हिन्दू आतंकबादी था " यह बता कर कमल हसन मुसलमान वोटरों को लुभाने की कोशिश कर रहे थे ।

कमल हसन के बयान को विवाद बनाने के लिए बीजेपी इसमें कूद गई। भोपाल से बीजेपी उम्मीदावर साध्वी प्रज्ञा ने कहा, "नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। आतंकवादी कहने वाले लोग स्वयं के गिरेबान में झांककर देखें, अबकी चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।"

साध्वी प्रज्ञा के इस बयान पर बीजेपी ने उनसे कन्नी काट ली। बीजेपी ने कहा साध्वी प्रज्ञा को इस बयान के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए। पार्टी ऐसा नहीं सोचती। जिसके बाद पार्टी की हाँ में हाँ मिलाते हुए साध्वी ने माफ़ी मांगी। साध्वी ने कहा कि "मैंने जो भी कहा वो गलत था। मैं पार्टी से सहमत हूँ।

अब इस मामले में नया मोड़ आया है। और वो भी मजेदार है। साध्वी प्रज्ञा के बाद बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े भी अब इस विवाद का हिस्सा बन गए हैं। अनंत हेगड़े ने आज सुबह ट्वीट करते हुए कहा कि

" मैं खुश हूं कि करीब 7 दशक के बाद आज की पीढ़ी नए बदलाव के साथ इस मुद्दे पर चर्चा कर रही है। इस चर्चा को सुन आज नाथूराम गोडसे अच्छा महसूस कर रहे होंगे।”

बीजेपी नेता के इस बयान के बाद विवाद और भी बढ़ गया। साध्वी प्रज्ञा को पार्टी पहले ही लताड़ चुकी थी। मामले की नजाकत को समझते हुए बीजेपी नेता के एक ट्रम्प कार्ड फेंक दिया।

उन्होंने करीब 1 घंटे के बाद अपने ट्विटर अकाउंट से इन ट्वीट को डिलीट करते हुए लिखा "मेरा अकाउंट कल हैक हो गया था। गांधी जी की हत्या को सही ठहराने का विचार पूरी तरह गलत है। देश और मैं गांधी जी का सम्मान करते हैं।”

गोडसे पर जारी बहस को देखते हुए कमल हसन को लगता है कि बीजेपी उन्हें गिरफ्तार करा सकती है। आखिर इस विवाद के मूल कारण भी वही हैं। इस पर कमल हसन कहते हैं "अगर बीजेपी मुझे गिरफ्तार कराना चाहती है तो कर ले, मुझे डर नहीं लगता। लेकिन वे ऐसा करेंगे तो समस्या और बढ़ेगी। यह कोई चेतावनी नहीं है सलाह हैं।"

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com