उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
राहुल गांधी  वायनाड 
राहुल गांधी वायनाड |Google
टॉप न्यूज़

राहुल गांधी के वायनाड से चुनाव लड़ने पर क्या बोली उन्हें पहली बार गोद में लेने वाली नर्स

राहुल गांधी एक बार प्रधानमंत्री बन जायें तो मैं गंगा नहा लूँ। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से जनता को बहुत उम्मीदें हैं। आखिर राहुल देश की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के अध्यक्ष हैं और भावी प्रधानमंत्री भी। अगर भविष्य में कभी भी कांग्रेस सत्ता में आए तो देश का दारोमदार राहुल गांधी के हांथों में ही होगा। वैसे भी गांधी परिवार ने अब तक देश को तीन प्रधानमंत्री दिए हैं और चौथे राहुल हो सकते हैं।

राहुल गांधी 2019 के इस लोकसभा चुनाव में दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। पहला केरल का वायनाड और दूसरा उत्तर प्रदेश के अमेठी से। राहुल के इस फैसले से बीजेपी काफी नाराज है। बीजेपी राहुल पर इल्जाम लगा रही है कि राहुल अमेठी में हार के डर से वायनाड भाग गए हैं और अब वहां से भी चुनाव लड़ रहे हैं। लेकिन राहुल को पहली बार गोद में उठाने वाली रिटायर्ड नर्स राजम्मा वावाथिल इस फैसले से बहुत खुश हैं।

समाचार चैनल ABP न्यूज़ को दिए अपने इंटरव्यू में राजम्मा वावाथिल कहती हैं कि "राहुल गांधी वायनाड से चुनाव लड़ रहे हैं यह सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई। मैं राहुल को प्रधानमंत्री बनते देखना चाहती हूं।"

राजम्मा कहती हैं -

"मैं उन भाग्यशाली लोगों में से हूं जिसने राहुल गांधी को जन्म के समय सबसे पहले गोद में लिया था। उनकी माँ सोनिया गांधी से भी पहले। राहुल जन्म से ही बहुत प्यारे हैं। मैं उनके जन्म की गवाह हूं। जब राहुल का जन्म हुआ उस समय हम सभी प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पोते को देखकर बेहद रोमांचित थे।"

आज इतने सालों बाद वह प्यारा बच्चा राहुल बड़ा हो गया। वायनाड से चुनाव लड़ रहा हैं। मुझे बहुत खुशी हो रही हैं। मैं चाहती हूं राहुल प्रधानमंत्री बने। "

कौन हैं राजम्मा वावाथिल ?

72 वर्षीय राजम्मा वावाथिल पेशे से नर्स हैं पर अब वे रिटायर्ड हो चुकी हैं। दरअसल राजम्मा उनलोगों में से हैं जो राहुल गांधी के जन्म के समय "होली फॅमिली हॉस्पिटल" (Holy Family Hospital) में VVIP नर्स हुआ करती थीं।

राजम्मा बताती हैं "जब राहुल गांधी का जन्म हुआ था उस समय मैं दिल्ली के "होली फॅमिली हॉस्पिटल" में नर्स थी, उसके बाद मैंने भारतीय सेना में अपना योगदान दिया। 1989 में मैंने VRS ले लिया। और जब मैं रिटायर्ड हुई तो वापस अपने गांव वायनाड आ गई। जब मुझे पता चला राहुल यहां से चुनाव लड़ रहे हैं तो मेरा दिल भावुक हो उठा। राजम्मा कहती हैं कि जब अगली बार राहुल गांधी वायनाड आए तो मैं उनसे जरूर मिलूंगी।”

आपको बता दें कि राहुल गांधी के नामांकन दाखिल करने के बाद केरल का वायनाड लोकसभा सीट चर्चा में हैं। यहां इस बार 80 फीसदी से अधिक मतदान हुआ था। वहीं चुनाव के नतीजे 23 मई को जारी किए जाएंगे।