उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
UP Loksabha Election 2019
UP Loksabha Election 2019|IANS
टॉप न्यूज़

उमा भारती का मायावती पर तंज कहा, “इस बार, तो मैं उन्हें बचाऊंगी” 

उमा भारती ने लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मुखिया मायावती पर तंज कसते हुए कहा, “इस बार भी अगर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता मायावती पर हमला करें, तो मैं उन्हें बचाऊंगी।”

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

लखनऊ: लोकसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान होने के साथ ही नेताओं की बयानबाजी का दौर तेज होता जा रहा है। सपा बसपा गठबंधन के बाद मायावती पर बीजेपी बार बार निशाना साध रही है और गेस्ट हॉउस कांड का जिक्र कर रही है। इसी क्रम में केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मुखिया मायावती पर तंज कसा है।

बीजेपी नेता उमा भर्ती ने कहा, "इस बार भी अगर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता मायावती पर हमला करें, तो मैं उन्हें बचाऊंगी।" उमा ने कहा कि समाजवादी पार्टी के लोग उन पर हमला जरूर करेंगे, चाहे चुनाव के पहले करें या फिर चुनाव के बाद।

उन्होंने कहा, "जब गेस्ट हाउस में मायावती जी पर हमला हुआ था, तब ब्रह्मदत्त द्विवेदी जी थे। अब वह नहीं हैं, तो मैं हूं। जैसे ही उनको संकट आए तो मेरा मोबाइल नंबर रखें और तुरंत मुझे फोन करें। उन पर संकट आना जरूर है।"

उमा भारती ने मायावती को वर्ष 1995 की वह घटना याद दिलाई है, जब समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं और विधायकों ने लखनऊ के स्टेट गेस्ट हाउस पर हमला बोल दिया था। बसपा विधायकों के साथ मारपीट की गई थी और मायावती ने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया था। उनका दरवाजा तोड़ने की कोशिश भी की गई थी।

क्या है गेस्ट हाउस कांड जिसपर उमा ने माया पर कसा तंज ?

गेस्ट हाउस कांड उतर प्रदेश की राजनीति का सबसे चर्चित कांड हैं। यह घटना साल 1992 की है। जब मुलायम सिंह यादव ने जनता दल छोड़ कर अपनी अलग पार्टी बनाई थी। समाजवादी पार्टी बनाने के मुलायम सिंह यादव ने बीजेपी का रास्ता रोकने के लिए 1993 में बहुजन समाज पार्टी से गठजोड़ किया। मायावती इस गठजोड़ का हिस्सा नहीं थी। लेकिन, 2 जून 1995 को मायावती की पार्टी बीएसपी ने मुलायम सिंह की पार्टी सपा से अलग होने का फैसला किया। मायावती के समर्थन वापसी लेने के बाद मुलायम सरकार अल्पमत में आ गई। जिसके बाद मुलायम सिंह का गुस्सा सातवें आसमान पर था।

मुलायम सिंह यादव ने सरकार को बचाने के लिए विधायकों से जोड़-तोड़ का सिलसिला शुरू कर दिया। लेकिन बात नहीं बन रही थी। समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव ने नाराज विधायक और कार्यकर्ता को मानाने के लिए मीराबाई मार्ग स्थित स्टेट गेस्ट हाउस आने को कहा । यहां कमरे में बंद बीएसपी सुप्रीमो मायावती के साथ कुछ लोगों ने बदसलूकी की। जिसके बाद इस मामले के खिलाफ FRI दर्ज कराया गया। जिसमें कहा गया कि समाजवादी पार्टी के नेताओं ने मायावती को जान से मरने की कोशिश की। इस घटना को गेस्ट हॉउस कांड के नाम से जाना जाता है।