उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
तेजस्वी यादव
तेजस्वी यादव
टॉप न्यूज़

भारत पाकिस्तान के रिश्ते पर तेजस्वी यादव ने कह दी बड़ी बात, सुनकर आपको लग सकता है बुरा

तेजस्वी यादव ने कहा किसी कलाकार और खेल पर प्रतिबंध लगाना उचित नहीं है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

पटना: बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को कहा कि वह भारत का पाकिस्तान से क्रिकेट या कोई खेल संबंध समाप्त करने की मांग को सही नहीं मानते हैं। उन्होंने कहा, "हम पुलवामा हमले की कड़ी निंदा करते हैं और हम चाहते हैं कि इसका जवाब दिया जाए, लेकिन यह भी उचित नहीं है कि दो देश इसकी वजह से साथ नहीं खेल सकते।" तेजस्वी यही नहीं रुके उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम चाहते हैं कि इंदिरा गांधी की तरह पीएम मोदी भी फिर से पाकिस्तान का दो फाड़ करें।

उन्होंने पटना में पत्रकारों से बातचीत में क्रिकेट विश्वकप में भारत-पाकिस्तान मैच के संबंध में पूछे जाने पर कहा कि खिलाड़ी खेल भावना के साथ खेलते हैं और अपने देश के लिए खेलते हैं, लेकिन किसी कलाकार और खेल पर प्रतिबंध लगाना उचित नहीं है।

उल्लेखनीय है कि पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हर तरह का संबंध तोड़ देने की मांग कई लोग कर चुके हैं।

तेजस्वी ने सरकारी बंगले के फिजुलखर्ची को लेकर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के आरोपों पर भी अपनी भड़ास निकाली। उन्होंने कहा कि मोदी को सूचना के अधिकार के तहत मुख्यमंत्री आवास के खर्च ब्योरा मांग कर देख लेना चाहिए।

उन्होंने कहा कि राजद के शासनकाल में मुख्यमंत्री आवास और वर्तमान में मुख्यमंत्री आवास के क्षेत्रफल की मापी के बाद सबकुछ स्पष्ट हो जाएगा। तेजस्वी ने कहा कि तीन आवासों को 1, अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास में मिला दिया गया है।

राजद नेता ने कहा कि उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी शुरू से हीन भावना से ग्रस्त नेता हैं। उन्होंने मोदी पर तंज कसते हुए कहा, "मोदी जैसे निहायती नकारात्मक व्यक्ति को कुछ नहीं सूझा तो सरकारी आवास के पेड़-पौधे और एसी गिन रहे हैं। वह ऐसी प्रवृत्ति के इंसान है कि कुछ महीनों पहले नीतीश कुमार के बंगलों की खिड़की और दरवाजे गिन रहे थे।"

उल्लेखनीय है कि मोदी ने तेजस्वी द्वारा छोड़े गए सरकारी बंगले में फिजुलखर्ची करने का आरोप लगाते हुए कहा था कि यही कारण है कि वे आवास नहीं छोड़ रहे थे।

--आईएएनएस