उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना’ (pradhanmantri Kisan samman nidhi Yojana)
‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना’ (pradhanmantri Kisan samman nidhi Yojana)
टॉप न्यूज़

बस दो दिन और, प्रधानमंत्री मोदी करेंगे अपना वादा पूरा, खाते में आएंगे पूरे 2000 रूपये

प्रधानमंत्री मोदी 24 फ़रवरी को देश के 12 करोड़ किसानों के खाते में मोदी 2 हजार रुपये की पहली किस्त जारी करेंगे। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) के मद्देनज़र किये गए अपने वादे को पूरा करने में तत्पर हैं। 24 फ़रवरी को 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' (pradhanmantri Kisan samman nidhi Yojana) की पहली क़िस्त किसानों को मिलने वाली है। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बीजेपी के राष्ट्रीय किसान सम्मलेन के दौरान देश के 12.5 करोड़ किसानों के खाते में मोदी सरकार 2 हज़ार रूपये की पहली क़िस्त जारी करेगी।

आपको बात दें कि, लोकसभा चुनाव (loksabha Election 2019) से पहले मोदी सरकार (Modi Governmet) किसानों को साधने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है। तीन राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान किसान बीजेपी (BJP) से नाराज थे , जिसका हर्जाना पार्टी को सत्ता गंवा कर चुकाना पड़ा था। ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) की बीजेपी सरकार किसानों को साधने के लिए हर संभव कोशिश करने में जुटी है।

1 फ़रवरी को जब मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल का अंतिम बजट पेश किया था, उस दौरान मोदी सरकार ने किसानों के लिए 'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना' (pradhanmantri Kisan samman nidhi Yojana) की घोषणा की भी थी। जिसके अंतर्गत सरकार किसानों के खाते में प्रतिवर्ष 6 हजार रूपये 3 किस्तों में देगी।

बहरहाल, इस योजना की पहली क़िस्त प्रधानमंत्री मोदी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से जारी करेंगे। जिसमें 12.5 करोड़ किसानों को 2000 हज़ार रूपये देने में सरकारी राजकोष से 25 हज़ार करोड़ रूपये खर्च होने का अनुमान है।

किसे मिलेगा इस स्कीम का फायदा?

देश के करीब 12.5 करोड़ किसान परिवारों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (pradhanmantri Kisan samman nidhi Yojana) का फायदा मिलेगा। इसके दायरे में दो-तिहाई ग्रामीण आबादी आएगी। जिनके पास दो हेक्टेयर तक खेतिहर जमीन है। 1 फरवरी, 2019 तक जिन किसानों के नाम राज्य के लैंड रिकॉर्ड्स में दिखेंगे, उन्हें इस स्कीम का फायदा मिलेगा। सरकारी कर्मचारियों की बात करें तो मल्टी-टास्किंग स्टाफ/क्लास IV/ग्रुप डी कर्मचारी इस स्कीम का फायदा ले पाएंगे।