Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
PM Modi Speeches in loksabha 2019
PM Modi Speeches in loksabha 2019|Twitter-BJP
टॉप न्यूज़

संसद के आखिरी सत्र में PM Modi ने कहीं ‘मन की बात’ विपक्ष को दिया धन्यवाद, तो राहुल पर किया तंज, जानें 8 बातें जो मोदी ने सदन में बोली

PM Modi Final Speeches in loksabha 2019: लोकसभा का अंतिम सत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के भाषण के साथ समाप्त हुआ।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: लोकसभा का 31 जनवरी को शुरू हुआ सत्र आज बुधवार को अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गया । लगभग यह पूरा सत्र विभिन्न दलों के हंगामे की भेंट चढ़ गया तथा पूरे सत्र में महज कुछ समय ही काम हो पाया । लेकिन इस सत्र की सबसे खास बात यह रही कि सदन के आखिरी सत्र में प्रधानमंत्री मोदी ने संबोधित किया और सदन के सामने अपने मन की बात रखी। दरअसल लोकसभा बजट सत्र का आज आखिरी दिन था, प्रधानमंत्री मोदी सहित कई नेताओं ने सदन में भाषण दिया लेकिन सदन में तारीफें सिर्फ दो ही भाषणों को मिली। पहला सपा सांसद मुलायम सिंह के भाषण को और दूसरा प्रधानमंत्री मोदी के भाषण को।

लोकसभा बजट सत्र में PM Modi की कहीं खास बातें

1. लोकसभा को संबोधित करते हुए सपा सांसद मुलायम सिंह यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके कार्यकाल की बधाई दी और कहा कि आप फिर प्रधानमंत्री बनें। मुलायम सिंह यादव ने अपने भाषण में कहा कि वह प्रार्थना करते हैं कि जो सदस्य इस समय सदन में बैठे हैं, वह दोबारा चुन कर आएं। मुलायम सिंह यादव ने कहा कि हम लोग (विपक्ष) अभी संख्या में काफी कम हैं, मैं कामना करता हूं कि आप (नरेंद्र मोदी की तरफ इशारा करते हुए) फिर प्रधानमंत्री बनें। हालांकि मुलायम सिंह की ये बात उनके बगल में बैठी कांग्रेस चेयरपर्सन को कुछ खास पसंद नहीं आई। उन्होंने हल्की मुस्कान के साथ इधर उधर देखना शुरू कर दिया।

2. प्रधानमंत्री मोदी इस मौके पर कैसे चूक सकते थे उन्होंने बिना देर लगाए मुलायम सिंह के इस बयान का जवाब हाथ जोड़कर कर दिया और उनका अभिवादन किया।

3. प्रधानमंत्री मोदी ने अपने कार्यकाल के समापन पर कहा, 16वीं लोकसभा सबसे अधिक महिला सांसदों के लिए जानी जाएगी, जिनमें से 44 महिला सांसद पहली बार चुनकर आई थी। हमारे कार्यकाल में देश विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना है। इसके लिए यहां बैठे सभी सदस्य बधाई के पात्र हैं, क्योंकि नीति-निर्धारण का काम यहीं हुआ है।

4. राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी पर तंज कसते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि, हम कभी-कभी सुनते थे भूकंप आएगा, लेकिन पांच साल का कार्यकाल पूरा हो रहा है कोई भूकंप नहीं आया। कभी-कभी हवाई जहाज उड़े और बड़े-बड़े लोगों ने हवाई जहाज उड़ाए, लेकिन लोकतंत्र और लोकसभा की मर्यादा इतनी ऊंची है कि भूकंप को भी पचा गया और कोई हवाई जहाज उसकी ऊंचाई तक नहीं जा पाया।

5. 16वीं लोकसभा में इस बात के लिए भी हमेशा हम गर्व करेंगे, क्योंकि देश में इतने चुनाव हुए उसमें पहली बार सबसे ज्यादा महिला सांसद आईं। 44 महिला सांसद पहली बार आईं। सभी महिला सांसद अभिनंदन की अधिकारी हैं।

6. पीएम मोदी ने कहा कि इस सदन के सदस्यों ने 1,400 से अधिक निष्क्रिय कानूनों को समाप्त करने का भी काम किया है। इस सदन के सदस्य जब जनता के बीच जाएंगे, तो वे गर्व से इन 5 वर्षों में सदन द्वारा काले धन और भ्रष्टाचार के विरुद्ध बनाए गए कानूनों के विषय में बता सकते हैं। पिछले 5 साल में भारत ने मानवता के काम में बहुत बड़ी भूमिका अदा की है। आज विश्व में भारत का जो कद बढ़ा है, उसके मूल में 2014 में 30 साल बाद बनी पूर्ण बहुमत वाली सरकार है। इसका यश पूर्ण रूप से देश की सवा सौ करोड़ जनता को जाता है ।

7. प्रधानमंत्री ने एक बार फिर राहुल गांधी का मजाक बनाते हुए कहा कि, पहली बार इस सदन में आने पर ही मुझे पता चला कि गले मिलने और गले पड़ने में क्या अंतर होता है। इसी सदन में मैंने पहली बार आंखों की गुस्ताखियों वाला खेल भी देखा।

8. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मैं पहली बार प्रधानमंत्री बन कर सदन में आया, मुझ जैसे नए सांसद ने आप सभी से बहुत कुछ सीखा है। यहां आकर मुझे कभी नहीं लगा कि मैं नया हूँ, इसके लिए मैं आप सबको धन्यवाद देता हूं। प्रधानमंत्री मोदी ने नेता प्रतिपक्ष मलिकाअर्जुन खड़गे जी को भी धन्यवाद दिया।