Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
Rafale Deal Controversy: राफेल पर राहुल गांधी का हमला जारी
Rafale Deal Controversy: राफेल पर राहुल गांधी का हमला जारी|Twitter-congress
टॉप न्यूज़

Rafale Deal Controversy: राफेल पर राहुल गांधी का हमला जारी, PM Modi ने गोपनीयता तोड़ी, राफेल सौदे में घोटाला 

Rafale Deal Controversy: राफेल सौदे पर राहुल गांधी का PM Modi पर हमला जारी है, राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए कहा कि अनिल अंबानी को राफेल सौदे के बारे में 10 दिन पहले से कैसे पता था ?

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का राफेल सौदे को लेकर कथित घोटाले के आरोप में प्रधानमंत्री मोदी पर हमला जारी है। राहुल गांधी ने आज प्रेस कांफ्रेंस में एक ईमेल का जिक्र किया है। राहुल ने कहा -

‘एयरबस कंपनी के एग्जक्यूटिव ने ईमेल में लिखा है कि फ्रांस के रक्षा मंत्री के ऑफिस में अनिल अंबानी गए थे। मीटिंग में अंबानी ने कहा था कि जब पीएम आएंगे तो एक एमओयू साइन होगा, जिसमें अनिल अंबानी का नाम होगा। यानी राफेल डील में। इसके बारे में न तो भारत के तत्कालीन रक्षा मंत्री को मालूम था, न ही एचएएल को न ही विदेश मंत्री को। लेकिन राफेल डील से 10 दिन पहले अनिल अंबानी को इस डील के बारे में मालूम था। इसका मतलब है कि प्रधानमंत्री अनिल अंबानी के मिडिलमैन की तरह काम कर रहे थे। सिर्फ इसी आधार पर टॉप सेक्रेट को किसी के साथ शेयर करने को लेकर प्रधानमंत्री पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए। उन्हें जेल भेजना चाहिए। यह देशद्रोह का मामला है।’
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

राहुल ने कहा कि रक्षा मंत्री का कहना है कि वह नए सौदे के बारे में नहीं जानते हैं, जबकि अनिल अंबानी यह कहते हुए फ्रांसीसी रक्षा मंत्री के कार्यालय में बैठे हैं कि पीएम उनके साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करेंगे। यह आधिकारिक राज अधिनियम का उल्लंघन है। प्रधानमंत्री ने गोपनीयता तोड़ी है। राफेल पर बोले हुए राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी और अनिल अंबानी पर जमकर हमला किया। राहुल ने कहा कि इस मुद्दे से तीन बातें जुड़ी हैं। ये हैं- करप्शन, प्रोसीजर और देशद्रोह। उन्होंने कहा कि इन तीन मामलों में कोई नहीं बचेगा।

राहुल ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगते हुए कहा कि प्रधानमंत्री अनिल अंबानी के बिचौलिये की तरह काम कर रहे थे। उन्होंने कहा पहले ये भ्रष्टाचार का मामला था, अब ये ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट का मामला हो गया है। इस पर कार्रवाई शुरु हो जानी चाहिए। प्रधानमंत्री ने देश की सुरक्षा से समझौता किया है। उन्होंने रक्षा मामले की जानकारी एक ऐसे व्यक्ति को दी जिसके पास ये जानकारी नहीं होनी चाहिए।

राहुल ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगते हुए कहा कि मोदी जी ने देश की रक्षा करने की गोपनीयता की शपथ ली थी । लेकिन उन्होंने ये राज अनिल अंबानी को बता दिया हैं, जिन्हें 10 दिन पहले दुनिया के सबसे बड़े रक्षा सौदे के बारे में पता था। यह अपने आप में आपराधिक है। खुद प्रधानमंत्री का यह अपराध उन्हें जेल में डालने के लिए काफी है। राफेल घोटाले में अब और कितना सबूत चाहिए....