twitter
twitter|alka lamba

दिल्ली पॉलिटिक्स:  आम आदमी पार्टी से अब इस नेता की निकलने की बारी !

दिल्ली की राजनीतिक गलियारों में एक और नेता के आम आदमी पार्टी से अलग होने की सुगबुगाहट तेज हो रही है। ये कोई और नहीं बल्कि चांदनी चौक से विधायक अलका लाम्बा हैं।

दिल्ली की राजनीति गलियारों में एक और नेता के आम आदमी पार्टी से अलग होने की सुगबुगाहट तेज हो रही है। ये कोई और नहीं बल्कि चांदनी चौक से विधायक अलका लाम्बा हैं। अलका लाम्बा ने आरोप लगाया है कि मौजूदा वक्त में उन्हें पार्टी में काम करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं। साथ ही आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें ट्विटर पर अनफॉलो भी कर दिया है...

अलका लाम्बा ने आरोप लगाए है कि पार्टी ने उन्हें पहले ही सभी वॉट्सएप्प ग्रुप से निकाल दिया है। जिस वजह से उन्हें मौजूदा वक्त में काम करने में परेशानी हो रही है। पार्टी के द्वारा आयोजित मीटिंग, कैंपेनिंग के लिए मुझे दूसरे विधायकों से पूछना पड़ता है। मैने पार्टी नेतृत्व को चिट्ठी लिख कर पूछा है कि वे मुझे लेकर अपना रुख स्पष्ट करें।

दिल्ली की चांदनी चौक से विधायक अलका ने लिखा है कि मुझे ऐसा लगता है कि पार्टी को अब मेरी जरूरत नहीं है लेकिन मैं जबतक विधायक हूं... जनता के लिए काम करती रहूंगी।

दरअसल, इस पूरे मामले की शुरुआत पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने के प्रस्ताव के बाद हुई। 21 दिसंबर को दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने पहले तो राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने के प्रस्ताव दिल्ली विधानसभा में पास कर दी। लेकिन बाद में चारों तरफ फजीहत होने पर पार्टी ने साफ किया कि ये उनका आधिकारिक स्टैंड नहीं था। लेकिन अलका लाम्बा इस बात पर अड़ी थी कि 1984 में हुए दंगों पर तत्कालीन प्रधानमंत्री ने सही ठहराते हुए बोला था। जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो आसपास की धरती हिलती है।

google image

google image

लिहाजा राजीव गांधी के खिलाफ प्रस्ताव आना चाहिए। अलका लाम्बा के इस रवैये से पार्टी ने उनसे इस्तीफा मांग लिया था। उन्हें 21 दिसंबर को पार्टी के वॉट्सएप्प ग्रुप से निकाल दिया था।

अलका लाम्बा ने बताया कि इस प्रकरण के बाद वो कई बार चांदनी चौक से लोकसभा प्रभारी से बात की और उन्होंने कहा कि वो जल्द ही उन्हें ग्रुप में एड कर लें। लेकिन अब तक ऐसा हुआ नहीं।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Last updated

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com