उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade)
गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade)
टॉप न्यूज़

गणतंत्र दिवस: अमर जवान ज्योति पर शहीदों को पुष्पचक्र चढ़ाकर करेंगे प्रधानमंत्री गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत 

गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: 'सोने की चिड़िया' कहे जाने वाले देश भारतवर्ष के लिए 26 जनवरी का दिन बेहद महत्वपूर्ण दिन है। यह वो दिन है जब 26 जनवरी 1950 में पहली बार भारत के संविधान को उसका अस्तित्व मिला था। खास बात यह है कि संविधान को अपने अस्तित्व में आने में पूरे 2 साल 11 महिने और 18 दिन का समय लगा। इस साल 2019 में हम 69वां गणतंत्र दिवस (Republic Day 69th) मनाने जा रहे हैं। इस साल के गणतंत्र दिवस (Republic Day 2019) समारोह के दौरान राजपथ पर होने वाली परेड के मुख्य आकर्षणों में 58 जनजातीय अतिथि, विभिन्न राज्यों और केंद्र सरकार के विभागों की 22 झाकियां तथा विभिन्न स्कूलों के छात्रों द्वारा दी जाने वाली प्रस्तुतियां होंगी।

शनिवार को गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा मुख्य अतिथि होंगे। गणतंत्र दिवस (Republic Day) समारोह की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर शहीदों को पुष्पचक्र चढ़ाकर करेंगे।

गृह मंत्रालय के एक ज्ञापन में बताया गया कि इस साल के गणतंत्र दिवस (Republic Day) के मौके पर विभिन्न राज्यों की झांकियों के साथ सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और विकास पर आधारित केंद्र सरकार के विभागों की झांकियां परेड का हिस्सा होंगी। सांस्कृतिक विषय पर आधारित कुछ झांकियों में लोक नृत्य भी होगा। राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजे गए 26 बच्चे भी खुली जीप में बैठकर झांकी का हिस्सा बनेंगे।

गृह मंत्रालय ने बताया कि इस साल गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade) का समय करीब 90 मिनट होगा। महात्मा गांधी (Mahatama Gandhi) की ‘समाधि’ को सुरक्षा कवच मुहैया कराने वाले केंद्रीय अर्ध सैनिक बल सीआईएसएफ की झांकी भी इस बार 11 साल के अंतराल के बाद गणतंत्र दिवस परेड (Republic Day Parade) में हिस्सा ले रही है। बल की झांकी में महात्मा गांधी (Mahatama Gandhi) की समाधि पर सुरक्षा में तैनात जवानों को दिखाया जाएगा।

केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवान देश की प्रमुख संस्थाओं और प्रतिष्ठानों की सुरक्षा में तैनात रहते हैं। करीब 1.70 लाख कर्मियों वाला यह केंद्रीय अर्धसैनिक बल अपनी स्वर्ण जंयती मना रहा है।