Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार और BJP के बीच छड़ी जंग अब तूल पकड़ती जा रही है।
बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार और BJP के बीच छड़ी जंग अब तूल पकड़ती जा रही है।|Google
टॉप न्यूज़

ममता ने अमित शाह का रथ रोक कर ली मुसीबत, अब बीजेपी महिला मोर्चा करेंगी झारग्राम में रैली

बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार और BJP के बीच छड़ी जंग अब तूल पकड़ती जा रही है। झारग्राम में ममता सरकार ने BJP अध्यक्ष अमित शाह के हेलिकॉप्टर को उतारने की इजाजत नहीं दी जिससे दौरा रद्द करना पड़ा। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने बीते मंगलवार से अपने मिशन बंगाल (Mission Bengal) की शुरुआत कर दी है। स्वाइन फ्लू की बीमारी से उभरे अमित शाह (Amit shah) ने ठीक होते ही बंगाल के मालदा में लोकसभा चुनाव (Loksabha election 2019) के मद्देनजर जनसभा को संबोधित किया। अमित शाह (Amit shah) के इस दौरे पर जमकर विवाद हुआ। अमित शाह को बंगाल में रैली (Amit shah rally in Bengal) करने के लिए कोर्ट की मदद लेनी पड़ी। उनकी रैली की शुरुआत मालदा से हुई। आज शाह के दौरे का दूसरा दिन था, जिसके तहत उन्हें झारग्राम में रैली करनी थी, लेकिन हेलिकॉप्टर लैंडिंग की परमिशन नहीं मिलने के चलते अब वह रैली में शामिल नहीं होंगे। हालांकि, बीजेपी ने मिशन बंगाल (Mission Bengal) ठान ली है तो अब कहा रुकने वाली है। बीजेपी (BJP) की इस रैली में अब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, सांसद रूपा गांगुली और कैलाश विजयवर्गीय शामिल होंगे।

ममता सरकार पर हल्ला बोल

कोलकाता में 19 जनवरी को विपक्षी नेताओं की रैली को 'सत्तालोलुपों के गठबंधन' के रूप में खारिज करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि वे लोग देश को केवल 'मजबूर सरकार' देना चाहते हैं ताकि वे भ्रष्टाचार कर सकें, जोकि नरेंद्र मोदी की 'मजबूत सरकार' में संभव नहीं है।

सत्तालोलुपों का "महागठबंधन"

अमित शाह (Amit shah) ने यहां राज्य में पार्टी के लोकसभा चुनाव (Loksabha Election 2019) अभियान की शुरुआत करते हुए कहा, "महागठबंधन के ये सभी नेता देश में एक कमजोर और मजबूर सरकार चाहते हैं, ताकि वे भ्रष्टाचार कर सकें। दूसरी ओर, हम एक मजबूत सरकार चाहते हैं, जो पाकिस्तान को सबक सिखा सके।" विपक्षी गठबंधन को खारिज करते हुए उन्होंने कहा, "यह केवल सत्तालोलुपों और केवल अपना हित चाहने वालों का गठबंधन है।"

विपक्ष का एजेंडा विकास नहीं, मोदी सरकार को हटाना है

अमित शाह ने कहा, "वे देश के लिए क्या करेंगे? उनका एकमात्र एजेंडा मोदी (PM Modi) को हटाना है। हम कहते हैं कि भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, अशिक्षा हटाओ। वे कहते हैं कि मोदी हटाओ। इनसब चीजों को हटाने के लिए आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि मोदी सत्ता में वापस लौटें, क्योंकि नेताओं का यह कमजोर गठबंधन सक्षम नहीं है।"

शाह ने ब्रिगेड पैरेड मैदान रैली में उपस्थित विभिन्न विपक्षी नेताओं के प्रधानमंत्री बनने की चाहत पर तंज कसा। उन्होने कहा, "मंच पर 23 नेता मौजूद थे, जिसमें से नौ प्रधानमंत्री पद के दावेदार थे। एक ही मंच पर प्रधानमंत्री पद के नौ दावेदार! बहुत लंबी लाइन है।"

--आईएएनएस