Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती (Mayawati)
उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती (Mayawati)|Google
टॉप न्यूज़

कांग्रेस को किनारा दिखा कर, UP में अखिलेश और मायावती के बीच हुआ 80 सीटों का बटवारा 

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती के बीच 2 घंटे चली मुलाकात ने उप्र में लोकसभा चुनाव की राजनीत को नया मोड़ दिया है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की गठबंधन वाली राजनीत में अब एक नया मोड आया है। बहुजन समाज पार्टी (BSP) और समाजवादी पार्टी (SP) अब उत्तर प्रदेश में कांग्रेस से किनारा करती नजर आ रही है। बीते शुक्रवार बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती (Mayawati) और समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने दिल्ली में मुलकात की है। हालांकि इस मुलाकात को निजी बताया जा रहा है लेकिन सूत्रों के अनुसार इस वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के मद्देनजर यह मुलाकात बेहद अहम् है। इस मुलाकात में दोनों हे पार्टी प्रमुखों ने लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के लिए सीट-बंटवारे के फॉर्मूले को अंतिम रूप देने का काम किया हैं। सूत्रों ने यह जानकारी दी।

सपा के सूत्रों ने बताया कि अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने प्रस्तावित सपा और बसपा गठबंधन के अंतिम पहलुओं पर चर्चा करने के लिए यहां मायावती (Mayawati) से मुलाकात की थी। हालांकि दोनों ही पार्टियों की ओर से अब तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है लेकिन सूत्रों का दावा है कि उत्तर प्रदेश की ये दोनों पार्टियां 37-37 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेंगी। उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) में लोकसभा की कुल 80 सीटें हैं। सूत्रों ने बताया कि शेष सीटों को कांग्रेस,राष्ट्रीय लोकदल और अन्य छोटी पार्टियों के लिए छोड़ा जायेगा। अगर यह महागठबंधन तैयार होता है तो बीजेपी के साथ-साथ कांग्रेस के लिए भी यह बड़ा झटका होगा।

वहीं अगर हम उत्तर प्रदेश की सेलेब्रिटी लोकसभा सीट अमेठी और रायबरेली की बात करें तो सपा-बसपा गठबंधन यहां से कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगा। अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Congress President Rahul gandhi) सांसद हैं और रायबरेली से यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी (Soniya Gandhi) सांसद हैं। अमेठी से बीजेपी की उम्मीदवार स्मृति ईरानी (Smriti Irani) है और वह लगातार कांग्रेस पर हमलावर रुख में नज़र आ रही हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) में कांग्रेस (Congress) यूपी में सिर्फ यह 2 सीट ही जीतने में कामयाब रही थी। वहीं 3 सीटें अजीत सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोकदल को देने और 4 सीटें रिज़र्व रखने पर सहमति बनी है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में लोकसभा की सबसे ज्यादा 80 सीटें हैं। पिछले दिनों हुए लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव में सपा-बसपा गठबंधन को मिली जीत को देखते हुए यह तय माना जा रहा था कि दोनों पार्टियां मिलकर चुनाव लड़ेंगी, लेकिन बात अटक रही थी सीट बंटवारे को लेकर। अब इसका इंतिजाम भी हो गया है।