उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
चंद्रबाबू नायडू
चंद्रबाबू नायडू|Janta ka Reporter
टॉप न्यूज़

मोदी CBI, RBI और उन जैसी दूसरी संस्थाओं को निगल रहे हैं. वह रक्षक नहीं है - नायडू  

आंध्र प्रदेश के CM नायडू के कांग्रेस से हाथ मिलाने के बाद राज्य में सत्ताधारी TDP ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना ‘एनाकोंडा’ से की, जो राष्ट्रीय संस्थाओं को निगल रहा है. 

Suraj Jawar

Suraj Jawar

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के कांग्रेस से हाथ मिलाने के बाद राज्य में सत्ताधारी तेलगु देशम पार्टी (TDP) ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना 'एनाकोंडा' से की, जो राष्ट्रीय संस्थाओं को निगल रहा है.
टीडीपी पोलित ब्यूरो के सदस्य और राज्य के वित्त मंत्री यनमाला रामकृष्णुडू ने पूछा कि क्या मोदी से बड़ा कोई एनाकोंडा है. उन्होंने कहा, वह (मोदी) सीबीआई, आरबीआई और उन जैसी दूसरी संस्थाओं को निगल रहे हैं. वह रक्षक कैसे हो सकते हैं.
टीडीपी नेता की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश बीजेपी ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू भ्रष्टाचार के राजा हैं और उनके भ्रष्टाचारों का अब खुलासा होगा. राज्य के वित्त मंत्री ने कहा कि टीडीपी का तात्कालिक कर्तव्य देश को बीजेपी से बचाना है.
टीडीपी नेता ने कहा कि मौजूदा हालात में देश, लोकतंत्र और संवैधानिक मूल्यों को बचाने की जिम्मेदारी सबकी है. उन्होंने विपक्षी पार्टी वाईएसआर कांग्रेस और जन सेना पर निशाना साधते हुए कहा कि वे सत्ता के लालची हैं और उनमें कोई राष्ट्रीय जिम्मेदारी नहीं है. उन्होंने कहा दोनों दल मोदी का समर्थन कर रहे हैं, जो राष्ट्रीय संस्थानों और लोकतंत्र को बर्बाद कर रहे हैं.
वहीं प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष कन्ना लक्ष्मीनारायण ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू भ्रष्टाचार के राजा हैं और किसी भी स्तर तक गिर सकते हैं. जिस व्यक्ति ने 2017 में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की बैठक में एक प्रस्ताव पारित कर कहा था कि मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री बनना चाहिए वह अब मोदी को दोषी के तौर पर पेश कर रहा है.
गौरतलब है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को हराने की कोशिश में जुटे हैं. हाल ही में नायडू ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा था कि लोग धोखा महसूस कर रहे हैं और विपक्षी दलों को देश के हित में साथ आने का रास्ता तलाशना चाहिए. नायडू ने 2019 लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी सरकार के खिलाफ एकजुट होने के तहत दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और लोकतांत्रिक जनता दल के शरद यादव समेत कई नेताओं से मुलाकात भी की थी.