उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
आलोक वर्मा
आलोक वर्मा|IANS
टॉप न्यूज़

सरकार ने छोडे CBI चीफ आलोक वर्मा के पीछे जासूस ? संदिग्ध CBI अधिकारी 

सीबीआई (CBI) डायरेक्टर आलोक वर्मा के घर के पास से चार लोगों को आलोक वर्मा के PSO ने संदिग्ध अवस्था वश पकड़ कर घर ले गए है , शंका है की वे जासूसी के रहे थे , पूछताछ जारी है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: CBI Vs CBI के बीच चला रहे जंग में सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा के आवास के बाहर से चार संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। आलोक वर्मा के निजी सुरक्षा गार्डो (PSO) ने इन संदिग्धों को पकड़ा और घर के अंदर ले गए। शक है कि वे संदिग्ध हैं और आलोक वर्मा पर नजर बनाये बैठे हैं। पुलिस मामले की जांच में लगी है और पूछताछ कर रही है। आपको बता दें ,केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में उजागर कथित घूसकांड के बाद सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेज दिया गया था। यह मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है।

सूत्रों का कहना है कि अभी इन संदिग्धों की पहचान और इनके उद्देश्यों का पता नहीं चल पाया है लेकिन जनपथ पर वर्मा के आवास के बाहर जासूसी करते पकड़े गए। सूत्रों ने कहा कि वर्मा के मुख्य सुरक्षा अधिकारी ने संदिग्धों को कार में बैठने के दौरान पकड़ लिया। दिल्ली पुलिस और सीबीआई की टीमें इस मामले की जांच कर रही है।

दरअसल, सीबीआई में कथित घूसकांड के बीच शीर्ष अधिकारियों के बीच टकराव की स्थिति के बीच बुधवार को केंद्र सरकार ने आलोक वर्मा और सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया। सीबीआई में छिड़ी जंग में विपक्ष ने केंद्र सरकार पर जम कर हल्ला बोला है। सीबीआई के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है की सरकार ने नियमों को ताख पर रखते हुए सीबीआई निर्देशक आलोक वर्मा और विशेष निर्देशक राकेश अस्थाना को रातोंरात उनके पद से हटा दिया और स्थिति को सँभालने के लिए 1986 के ओडिशा कैडर के आईपीएस अधिकारी एम नागेश्वर राव को सीबीआई का डायरेक्टर नियुक्त किया।

बता दें, इसके साथ ही राकेश अस्थाना के खिलाफ घूस और जबरन वसूली के आरोपों की जांच करने के लिए नए सिरे से टीम का गठन किया गया है, हालांकि बुधवार को सरकार के फैसले को चुनौती देते हुए आलोक वर्मा ने उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। उनकी याचिका पर न्यायलय में शुक्रवार को सुनवाई होगी।