pushpendra kulshrestha on sushant singh rajput death mystery
pushpendra kulshrestha on sushant singh rajput death mystery|Uday Bulletin
टॉप न्यूज़

सुशांत के 10 करीबी लोगों की मौत या तो लापता, पुष्पेन्द्र कुलश्रेष्ठ ने लगाए गंभीर आरोप

सुशांत केस उतना सीधा और सरल नहीं जितना उसे दिखाया और बताया गया है, समाज में सुशांत केस को लेकर और थ्योरियाँ चल रही है जिनपर पड़ताल अवश्य होनी चाहिए।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

केवल सुशांत ही नहीं अन्य लोग भी संदिग्ध रूप से मरे:

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु संदिग्ध परिस्थितियों में उनके फ्लैट में हुई उनका शव पंखे में लटका हुआ पाया गया लेकिन अगर हिन्दू एक्टिविस्ट और मोटिवेशनल स्पीकर पुष्पेन्द्र कुलश्रेष्ठ की बातें सुने और उनपर अमल करें तो सीबीआई को केवल सुशांत सिंह की मौत की जांच करना काफी नहीं होगा बल्कि इसके साथ सुशांत से जुड़े हुए अन्य लोगों की संदिग्ध मौत की जांच भी करना चाहिए क्योकि संयोग इतना प्रबल नहीं हो सकता , कि एक कतार से लोगों की मौतें होती गयी या फिर उनसे जुड़े हुए लोग गायब होते गए।

पुष्पेंद्र ने एक-एक करके करीब 10 लोगों की मौत की पड़ताल करने की मांग रखी है:

संदिग्ध मृतकों के नाम:

  1. मनमीत ग्रेवाल 15 मई (सुशान्त के मित्र)

  2. प्रेक्षा मेहता 26 मई (मित्र)

  3. कृष कपूर 31 मई (मित्र)

  4. दिशा सालियान 8 जून ( सुशान्त की मैनेजर)

  5. समीर बंगरा 14 जून ( सड़क दुर्घटना में मृत्यु )

  6. सुशान्त सिंह राजपूत 14 जून

  7. आनंदी धवन 14 जून ( गायब )

  8. स्टीव पिंटो 14 जून (गायब)

  9. विजय सलगांवकर 14 जून (गायब )

  10. समीर शर्मा 5 अगस्त (संदिग्ध मृत्यु )

पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ ने इन सभी मामलों में सीबीआई को अपनी जांच केंद्रित करने के लिए कहा है। पुष्पेंद्र के अनुसार ये सभी हत्याएं और गायब लोग एक कड़ी की तरह है। अगर इन सभी को एक सिरे से जोड़ा जाए तो मामला सामने आ सकता है।

CBI needs to investigate murders cum suicides happened within one month span : 1] Manmeet Greewal 15th May(SSR's...

Posted by Pushpendra Kulshrestha on Monday, September 7, 2020

क्या ये थ्योरी सच है?

देखिए हमारा काम सूचना को आगे रखना है अगर ये घटनाएं सच की ओर इशारा करती है और अगर इन मामलों में कोई भी कनेक्शन नजर आता है तो जाहिर तौर पर इनकी जांच होनी चाहिए। क्योंकि अगर पुष्पेंद्र द्वारा बताई गई सभी घटनाएं सच है तो जाहिर सी बात है कि इतने सारे लोगों का अचानक में मर जाना या गायब हो जाना संदेह पैदा करता है। किसी भी मामले का खुलासा जांच के किसी भी अंजाम तक पहुंचने के बाद ही होता है। हालांकि सीबीआई इस मामले में अपनी जांच को लगातार गति दे रही है देखते है क्या रहस्य उजागर होता है।

डिस्क्लेमर: ऊपर दिए गए तथ्य पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ द्वारा सोशल मीडिया पर डाले गए हैं। मृतकों के नाम और संदिग्ध मृत्यु के बारे में उदय बुलेटिन सत्यता की पुष्टि नहीं करता है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com