सिग्नल इफेक्ट के बाद निकली व्हाट्सएप की हेकड़ी, जारी की सफाई

WhatsApp की हेकड़ी निकल गयी ट्वीट करके दी सफाई
सिग्नल इफेक्ट के बाद निकली व्हाट्सएप की हेकड़ी, जारी की सफाई
Whatsapp new Privacy PolicyGoogle Image

बीते कुछ दिनों से व्हाट्सएप की डेटा पॉलिसी को लेकर हड़कंप की स्थिति पैदा हो चुकी है। लोगों ने व्हाट्सएप की तानाशाही वाली नीति पर सवाल उठाए है साथ ही व्हाट्सएप के विकल्पों की तलाश की है जिसके बाद लोगों की मंजिल सिग्नल एप तक पहुंची है। जाहिर सी बात है इसके बाद व्हाट्सएप का नुकसान होना तय है। इस मामले पर ख़ौफ़ खाकर व्हाट्सएप ने ट्विटर पर सफाई भी जारी की है, लेकिन वो बात अलग है कि लोगों पर उसका कोई खास फर्क पड़ता नजर नही आ रहा है।

जारी की सफाई:

हालांकि जिस हिसाब से व्हाट्सएप ने अपनी पॉलिसीज के बारे में जानकारी साझा की थी और उपयोगकर्ताओं को चेताया था कि अगर उन्होंने व्हाट्सएप की नई पॉलिसीज के साथ सहमति दर्ज नही कराई तो उनका एकाउंट बंद किया जा सकता है, अब उसी व्हाट्सएप के द्वारा अपनी पॉलिसीज को लेकर लगातार सफाई जारी की जा रही है। दरअसल बीते कुछ समय से लोगो द्वारा व्हाट्सएप के विकल्पों के चुनाव की बात कही जा रही है जिसमें सबसे अव्वल सिग्नल नाम का एप आया है नतीजन सिग्नल ने महज कुछ ही दिनों के बाद अपना मुकाम व्हाट्सएप से ऊपर कर लिया, यही कारण है कि खुद व्हाट्सएप को सामने आकर अपनी बात कहनी पड़ी है, ट्विटर पर किये गए एक पोस्ट में व्हाट्सएप ने अपनी सफाई देते हुए कहा है कि..

हम समाज मे फैल रही कुछ अफवाहों को लेकर आपसे रूबरू होना चाहते है, आपको अवगत कराना है कि आपके मैसेज पहले की तरह 100 प्रतिशत इंड तो इंड इनस्क्रिप्टशन के तहत सुरक्षित रहेंगे

व्हाट्सएप ने अपनी सफाई में कहा

"हमारी गोपनीयता नीति अपडेट आपके मित्रों या परिवार के साथ आपके संदेशों की गोपनीयता को प्रभावित नहीं करती है। इस बारे में अधिक जानें कि हम आपकी गोपनीयता की रक्षा कैसे करते हैं और साथ ही साथ यहाँ फेसबुक पर साझा नहीं करते हैं"

इस मामले में व्हाट्सएप ने लोगों को नई गोपनीयता नीतियों के पढ़ने की भी सलाह दी है

निर्मूल नही है लोगों का भय:

व्हाट्सएप और फेसबुक कुछ भी कहे लेकिन अगर बीते दिनों के कुछ हालातों पर नजर डाले तो ऐसे वाकये हुए है जब सोशल मीडिया प्रोवाइडर ने अपने मन के हिसाब से नीतियों को न सिर्फ लागू किया है बल्कि उनका कार्यान्वयन किया है, इससे आम उपयोगकर्ता बेहद चिंता में है, यही कारण है कि लोगों ने व्हाट्सएप के विकल्प को तालशने में कोई कोताही नही बरती।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

Related Stories

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com