उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Mukesh Ambani
Mukesh Ambani|Google
अन्य खबर

सुनो चचा! जियो अब फ्री नही रहा, ये है वजह

जियो ने दिया करारा झटका, जिओ से दूसरे ऑपरेटर पर कॉल करने पर लगेगा चार्ज

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

एक जमाना था जब जिओ ने सबको फ्री का झुनझुना दिखा कर बाजार में तहलका मचा दिया था, डेटा, कॉल्स ,मैसेज, सब कुछ फ्री, कुलमिलाकर एक साल तक तो सबकुछ फ्री रहा, आखिरकार हम हिंदुस्तानी इसी चीज के तो अभ्यस्त है, जो फ्री में मिले बटोरते जाओ,और फिर एक वक्त आया जब जियो ने कहा कि आपको सभी सेवाएं मुफ्त में नही दी जा सकती, इसके लिए मंथली चार्ज देना पड़ेगा, खैर वो भी सही था, इसके बाद जियो ने लोकलुभावन प्लान्स सबके सामने चुनने के लिए फेंक दिए , लोगो ने अपने खर्च और उपयोग के आधार पर उन्हें चुनकर आगे बढ़ाया।

लेकिन अब जियो की तरफ से एक अप्रत्याशित प्रेस रिलीज सांमने आया है जिसमे रिलायंस जियो ने खुल्ले आम ताल ठोककर कहा है कि अब अगर आप जिओ से दूसरे नेटवर्क के किसी नंबर पर बात करते है तो बाकायदा आपको पैसे देने पड़ेंगे, रकम होगी लगभग 6 पैसे प्रति मिनिट, हालकि इस बयान को लेकर लोगों की तमाम प्रतिक्रियाएं सांमने आयी है ,जिंनमे कही जिओ को गुड़ दिखाकर ईंट मारने वाला बताया गया है तो कही जनता को मूर्ख बताकर और दूसरी कंपनियों के ग्राहक बेस को कब्जाने वाला, हालाँकि कुछ लोग जिओ के इस बयान को सही बताने में नही चूक रहे।

पैसा चार्ज की की असली बजह क्या है :

जैसा आप जानते है कि जिओ नेटवर्क में वॉइस कॉल फ्री है , इसलिए जिओ को वोडाफोन आईडिया और एयरटेल जैसे ऑपरेटर्स को किये गए कॉल्स के लिए 13 500 करोड़ रुपये का भुगतान पड़ा है, जिओ अब इसकी भरपाई करना चाहता है और इसलिए ग्राहकों से दूसरे ऑपरेटर्स पर कॉल करने के पैसे लिए जायेंगे।

इस मामले को लेकर सोशल मीडिया में मीम्स की बाढ़ सी आ गयी है, जिनको लोग चटखारे लेकर शेयर कर रहे है !

पैसे का बलिदान :

चीटिंग करता है तू :

प्रशिद्ध पर्यावरण प्रेमी बच्ची को लेकर बेहद मनोरंजक मीम सब जगह तैर रहा है, हिम्मत कैसे हुई तुम्हारी:

दशहरा के तुरंत बाद रावण का संधान किया हुआ अद्भुत जिओआश्त्र:

आखिर ये नौबत कैसे आयी :

दूसरे नेटवर्क में बात करने का एक टर्म है IUC इंटरकनेक्ट यूजेस चार्ज, दरअसल यही बवाल वह गले की हड्डी है जिसकी बजह से जिओ की कालिंग सभी नेटवर्क्स के साथ फ्री न रहने की बजह बनी है। दरअसल, एक टेलीकॉम नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क पर कॉलिंग ले लिए ट्राई (TRAI) की ओर से तय किये गए एक शुल्क का भुगतान कंपनियों को करना पड़ता है। जिस नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क पर कॉल की जाती है, उसे दूसरे नेटवर्क को IUC फीस देनी पड़ती है।

इस उदहारण से समझो: अगर वोडाफोन आईडिया के उपभोक्ता ने किसी जिओ उपभोक्ता को कॉल किया है, तो वोडाफोन आईडिया जिओ को इसके लिए ICU चार्ज देगी। वहीँ जिओ यूजर की ओर से वोडाफोन आईडिया के नंबर पर आउटगोइंग कॉल की स्थिति में जिओ भी वोडाफोन आईडिया को ICU चार्ज का भुगतान करेगा।

जिओ ने IUC का फंडा बताया:

Jio Notification 
Jio Notification 
Social Media

नफा या नुकसान ?

इस बवाल को अगर सही तरीके से देखे तो इसके दो नतीजे हो सकते है, या तो तगड़ा वाला नफा या नुकसान, एक ओऱ जहां लोग एक्स्ट्रा पैसे चार्ज होने से बचने के लिए जियो को चुनेंगे या फिर दूसरा दरवाजा खोजेंगे, जिसके लिए दूसरी दूरसंचार व्यवस्थाएं पलक पाँवड़े बिछाए बैठे है।

नमूना: