भारत मे चीनी ऐप्स पर फिर लगा ग्रहण, जैक मा के ऐप्स के साथ कई अन्य ऐप्स हुए प्रतिबंधित

मोदी सरकार ने एक बार फिर किया चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, देश की अखण्डता को खतरा बताते हुए 43 ऐप्स को किया बैन।
भारत मे चीनी ऐप्स पर फिर लगा ग्रहण, जैक मा के ऐप्स के साथ कई अन्य ऐप्स हुए प्रतिबंधित
Chinese app ban in indiaGoogle Image

भारत सरकार लगातार आईटी मंत्रालय के इनपुट पर साइबर सिक्योरिटी को लेकर कड़े कदम उठा रही है। सरकार ने देश की अखंडता और संप्रभुता के मद्देनजर 43 अन्य ऐप्स को बैन कर दिया है। सरकार के आदेश पर आप प्ले स्टोर समेत अन्य जगहों पर न ही ये ऐप्स डाउनलोड कर सकते है और ना ही इनका प्रचालन हो सकेगा।

एक बार फिर चीनी ऐप्स पर भारत का प्रहार:

चूंकि भारत सरकार बीते कुछ समय से साइबर सिक्योरिटी को लेकर सजग है, कई बार सरकार और आईटी मंत्रालय को यह जानकारी मिली कि चीनी ऐप्स के माध्यम से आम भारतीयों का डेटा चीनी सर्वरों में सुरक्षित किया जा रहा है और इनका उपयोग चीनी सरकार द्वारा भारत के खिलाफ किया जा रहा है।

इसके मद्देनजर सरकार ने लगातार मिलते इनपुट के आधार पर दो बार भारी मात्रा में ऐप्स को बैन किया जा चुका है। जिसमें टिक टॉक के अलावा पबजी (PUBG) समेत अन्य ऐप्स शामिल थे। अबकी बार भारत सरकार के मंत्रालय ने बाकायदा नोटिफिकेशन जारी करके अन्य 43 ऐप्स को तत्काल प्रभाव से बैन कर दिया है।

जैक मा की ऐप्स पर गिरी गाज:

ज्ञात हो कि बैन किये गए ऐप्स में सबसे ज्यादा चीनी अरबपति जैक मा (अलीबाबा के मालिक) और इसकी एलाइन्स कंपनियों के है। जिसमें अली सप्लायर, अलीबाबा वर्क बेंच, अली एक्सप्रेस, अली पे कैशियर इत्यादि ऐप्स शामिल है। यहीं नहीं इसके अलावा टिक टॉक (Tik Tok) के जाने के बाद स्नैक वीडियो जैसे वीडियो शेयरिंग सोशल मीडिया ऐप भी सरकार के निशाने पर आया और इसे भी तत्काल प्रभाव से बंद किया गया है।

आईटी एक्ट के आधार पर किये गए बैन:

भारत सरकार ने अपनी इस कार्यवाही को आईटी एक्ट के तहत बैन किया है। सरकार ने देश की अखण्डता को खतरा बताते हुए इन सभी ऐप्स को बैन किया है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com