Remove China APP
Remove China APP|Uday Bulletin
टेक बुलेटिन

भारत के एक एप्प ने चीन में हड़कंप मचा दिया, गूगल प्ले ने बिना पालिसी वायलेशन के हटाया

Remove China APP गूगल प्ले स्टोर की टॉप ट्रेंडिंग लिस्ट में आ गया था। रिमूव चाइना ऐप को जयपुर की कंपनी One Touch App Labs ने बनाया था।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

आपको क्या लगता है कि चीन की हालत कोई कोइ मोबाइल एप्प बिगाड़ सकता है, अगर नहीं तो आप गलत हैं। दरअसल चीन में अब तक एक एप्प की वजह से हालात खराब हो चुके थे उस एप्प का नाम है "रिमूव चाइना एप" जिसे जयपुर की वन टच एप्प लैब ने विकसित किया था।

मच गया हड़कंप:

दरअसल स्मार्टफोन की दुनिया मे चीन केवल हार्डवेयर तक ही सीमित नहीं बल्कि यह सॉफ्टवेयर और स्मार्टफोन एप्प में भी बराबरी के साथ कायम है फिर चाहे वह गेमिंग की दुनिया का बेताज बादशाह हो या कुछ और चीन के शॉपिंग एप से लेकर तमाम प्रकार के एप गूगल प्ले स्टोर पर छाए हुए है। इसी बीच जब चीन के दुनिया भर से रिश्ते कोरोना की वजह से अच्छे नहीं रहे वहीँ भारत मे सीमा विवाद को लेकर चीन से तल्खी बढ़ती जा रही ह। वहीँ यह गतिरोध अब स्मार्टफोन में आकर बढ़ने लगा। भारत मे चीन के एप्स को लेकर विरोध होने लगा असल समस्या तब आयी जब लोग एप की ओरिजन को लेकर संदेह में आ गए कि आखिर एप कहाँ बना हुआ है ? इसको सरल बनाया जयपुर की एक कंपनी ने जिसका नाम है "वन टच एप लैब" यह एप यूजर को बताता है कि स्मार्टफोन में इंस्टॉल एप कौन-कौन से चीन के है और इसके जरिये एक झटके में ही सभी चीन के एप को रिमूव किया जा सकता है।

एप्प को डेवेलप करने वाली कंपनी प्ले स्टोर से ऐप हटाए जाने की जानकारी ट्वीट करके दी है:

इस एप्प की रेटिंग गूगल प्ले स्टोर पर 4.9 की रेटिंग पाकर करीब 50 लाख लोगों के द्वारा इंस्टाल किया गया था और अचानक ही इस एप्प को बिना पॉलिसी वायलेशन के इसे प्ले स्टोर से गूगल द्वारा हटा दिया गया ज्ञात हो गूगल तभी किसी एप्प को हटाता है जब उसके द्वारा यूजर के नुकसान का भय हो, अब इसे चीन की गूगल पर दादागिरी कहें या कुछ और अब यह गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं है।

क्या हो रहा था नुकसान?

दरअसल चीन ने अपने एप्प की कंपनियों में लंबा निवेश किया है जिनमे ब्राउजर समेत अन्य प्रकार के एप्प शामिल हैं। टिक टॉक जैसे मनोरंजक एप्प को वैसे भी भारत मे घृणा फैलाने का सबसे सरल साधन माना जाता है और अकेले भारत मे इसके उपयोगकर्ताओं की संख्या सबसे ज्यादा है और रिमूव चाइना एप्प के द्वारा इन सबको एक झटके में खत्म किया जा रहा था। शायद यही कारण है कि चीन की टेक लाबी द्वारा गूगल पर दबाव बनाया जा रहा था जिसकी वजह से इसे बंद किया गया। गूगल ने जो कारण बताया है वह भी बेहद अजीब किस्म का है, गूगल के अनुसार इस एप के जरिये चायनीज सेंटीमेंट को धक्का लग रहा है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com