उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
EAM S Jaishankar
EAM S Jaishankar |Social Media
टेक बुलेटिन

कुलभूषण जाधव पर जो विदेश मंत्री ने कहा वो सुनने लायक है 

कुलभूषण जाधव पर राज्यसभा में विदेश मंत्री का बयान सुनकर पाकिस्तान पगला जाएगा 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर कल अंतरराष्ट्रीय अदालत (International Court Of Justice) ने अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले में अंतरराष्ट्रीय अदालत ने पाकिस्तान की दलील को खारिज करते हुए कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगा दिया और पाकिस्तान की अदालत को सलाह देते हुए कहा कि इस मामले पर फिर से सुनवाई करे, कुलभूषण को अपने बात कहने के लिए वकील दिया जाए।

भारत ने अंतरराष्ट्रीय अदालत के इस फैसला का स्वागत किया और इसे भारत की बड़ी जीत बताई। लेकिन इस मामले में बात करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इसे पाकिस्तान की जीत बता दिया। और अब इमरान खान को भारत के विदेश मंत्री का जवाब मिला है। विदेश मंत्री ने कहा कि भारत बहुत जल्द जाधव को वापस लेकर आएगा।

दरअसल ICJ के फैसले के बाद इमरान खान ने अपने ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने लिखा कि “मैं ICJ के फैसले का स्वागत करता हूं। कमांडर कुलभूषण जाधव को बरी ना करना, भारत को वापस ना करना अदालत का सही फैसला है। कमांडर कुलभूषण जाधव पाकिस्तान के लोगों का अपराधी है। पाकिस्तान अपने कानून के तहत उसपर कार्रवाई करेगा।”

Imran Khan Tweet
Imran Khan Tweet
Social Media

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के इस ट्वीट के बाद आज भारत की तरफ से विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एक बयान दिया है। उन्हें राज्यसभा को संबोधित करते हुए कहा कि “ हमने कुलभूषण की रिहाई के लिए काफी प्रयास किया। आगे भी करते रहेंगे। हमारी कोशिश होगी की जाधव जल्द ही भारत वापस आ जाये।”

उन्होंने आगे कहा कि “कुलभूषण जाधव के परिवार ने इस मुश्किल समय में काफी धर्य से काम लिया, साहस दिखाया। मैं उन्हें भरोसा दिलाता हूं कि सरकार उन्हें (कुलभूषण) वापस लेकर आएगी। पाकिस्तान में उनकी सुरक्षा और भारत वापसी को लेकर कोशिशें जारी रहेंगी।”

वहीं राज्यसभा के अध्यक्ष एम वेंकैया नायडू ने कहा कि ‘’मैं काफी खुश हूं कि पूरा सदन साथ मिलकर ICJ के फैसले का स्वागत कर रहा है। हम उम्मीद कर सकते हैं कि कुलभूषण जल्द ही भारत वापस आ सकें।”

पाकिस्तान कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानी आवाम का गुनहगार मानता है। पाक की नज़र में जाधव भारत का जासूस है। जाधव को पाकिस्तानी सेना ने साल 2016 में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया था। जबकि भारत का कहना है कि जाधव तेल व्यापरी हैं। वो अपने काम के सिलसिले में ईरान जा रहे थे। पाकिस्तानी सेना ने पहले उनका अपहरण किया फिर झूठे आरोप लगाए।

ICJ के फैसले ने जाधव की वतन वापसी को लेकर भारत की उम्मीदें बढ़ा दी हैं। जबकि पाकिस्तान बेचैन और बिगड़ैल है।